May 27, 2024
  • होम
  • जान बचाने के लिए पेड़ पर चढ़ा लेपर्ड, बाघिन ने फिर भी नहीं छोड़ा पीछा, देखिए वीडियो

जान बचाने के लिए पेड़ पर चढ़ा लेपर्ड, बाघिन ने फिर भी नहीं छोड़ा पीछा, देखिए वीडियो

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : February 15, 2023, 6:42 pm IST

सवाई माधोपुर। हम सब जानते हैं कि वाइल्ड लाइफ का हर लम्हा एडवेंचर्स से भरपूर होता है। इसी एडवेंचर का आनन्द उठाने के लिए सैंकड़ों की संख्या में पर्यटक हर दिन रणथम्भौर पहुंचते हैं। ऐसा ही एक यादगार लम्हा पर्यटकों को रणथम्भौर के जोन नम्बर 6 में उस समय देखने को मिला जब बाघिन टी-39 नूर को अपने क्षेत्र में एक लेपर्ड का घुसना अच्छा नहीं लगा। बाघिन को लेपर्ड का दखल इतना नागवार गुजरा कि उसने लेपर्ड पर हमला बोल दिया, लेकिन लेपर्ड भी जंगल का शातिर शिकारी था। बाघिन के दांव से बचने के लिए वह तुरंत पेड़ पर चढ़ गया और अपनी जान बचा ली।

पीछे बाघिन भी पेड़ पर चढ़ी

दरअसल, रणथम्भौर के जोन नम्बर 6 में पार्क भ्रमण के दौरान पर्यटकों को बाघिन नूर के दर्शन हुए। इसी बीच एक लेपर्ड वहां पहुंच गया। बाघिन को लेपर्ड का अपनी क्षेत्र में आना नागवार गुजरा और वह अचानक हमलावर हो गई। बाघिन ने जब हमला बोला तो लेपर्ड ने झट से दौड़ लगा दी। इसके बाद बाघिन भी अपने शिकार के पीछे दौड़ने लगी। खतरा बढ़ता देख लेपर्ड ने एक पेड़ पर शरण ली। पीछे-पीछे बाघिन भी पेड़ पर चढ़ गई। हालांकि वह सिर्फ 8 सेंकड ही पेड़ पर रह सकी। इसके बाद लेपर्ड पेड़ पर ज्यादा उंचाई पर चला गया और अपनी जान बचा ली।

कैमरे में कैद हुआ पूरा वाकया

बता दें कि बाघ-बाघिन अपने भारी वजन की वजह से पेड़ पर ज्यादा ऊंचाई तक नहीं चढ़ पाते हैं। रणथंभौर भ्रमण पर गए पर्यटकों ने बाघिन टी-39 नूर द्वारा लेपर्ड पर किये गए हमले और लेपर्ड का पीछा कर पेड़ पर चढ़ने का पूरा वाकया अपनी मोबाईल कैमरों में कैद कर लिया। ये वीडियो अब सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रहा है। लोग इस वीडियो को काफी पसंद कर रहे हैं।

कारगिल युद्ध के साजिशकर्ता थे मुशर्रफ, 1965 में भारत के खिलाफ लड़े थे युद्ध

Parvez Musharraf: जानिए क्या है मुशर्रफ-धोनी कनेक्शन, लोग क्यों करते हैं याद

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन