May 25, 2024
  • होम
  • Tech Tips: अब आपको आसानी से मिलेगा पीसी या कंप्यूटर में फास्ट ब्राउजिंग, ऐसे करें स्टेप्स फॉलो

Tech Tips: अब आपको आसानी से मिलेगा पीसी या कंप्यूटर में फास्ट ब्राउजिंग, ऐसे करें स्टेप्स फॉलो

  • WRITTEN BY: Shiwani Mishra
  • LAST UPDATED : April 24, 2024, 7:37 am IST

नई दिल्ली : आजकल ज्यादातर लोग काम के लिए पीसी या कंप्यूटर का इस्तेमाल करते हैं. ऐसे में आप चाहे कोई भी ब्राउज़र इस्तेमाल करें, वो बहुत सारी जानकारी स्टोर करता है. बता दें कि आप अपने ब्राउज़र में किन साइटों पर गए, और आपने क्या डाउनलोड किया? इसके अलावा ब्राउज़र आपके पासवर्ड और बहुत कुछ के बारे में जानकारी संग्रहीत करता है.

तो ऐसे में अगर आप अपने ब्राउजर को नियमित रूप से साफ नहीं करते हैं तो आपका कंप्यूटर या पीसी धीरे-धीरे चलेगा, और समय-समय पर, पीसी या कंप्यूटर का इतिहास, ब्राउज़र डेटा, कैशे, कुकीज़ और कई अनावश्यक फ़ाइलें भी सिस्टम पर अतिरिक्त जगह ले लेती हैं. दरअसल ऐसे में इसका सीधा असर सिस्टम परफॉर्मेंस पर पड़ता है, और इन सभी डेटा को नियमित रूप से डिलीट करना आपके पीसी और कंप्यूटर के लिए बहुत फायदेमंद है.

क्या होता है कुकीज, कैशे और हिस्ट्री

a Computer and Laptop
WhatsApp calls

जब आप इंटरनेट पर ब्राइजिंग करते समय किसी वेबसाइट पर जाते हैं, तो पेज खोलने के बाद आपको एक पॉप-अप अधिसूचना प्राप्त होगी जिसमें आपसे कुकीज़ स्वीकार करने के लिए कहा जाएगा, और ये कुकीज़ आपके डिवाइस पर स्टोरेज स्पेस को कम कर देती हैं. कुकीज़ आपकी जानकारी को इस तरह से सुरक्षित रखती हैं जिससे आपके वापस लौटने पर आपका अनुभव बेहतर हो जाता है.

also read

Lok Sabha Elections 2024: पीएम मोदी के मंगलसूत्र वाले बयान पर कांग्रेस का हमला, कहा- वो विश्व गुरु नहीं, विष गुरु हैं

दरअसल स्टोरेज का अर्थ है आपके द्वारा देखी गई वेबसाइटों की तस्वीरें संग्रहीत करना है.ताकि यूजर्स के अगली बार आने पर पेज के लोड को फास्ट किया जा सकें. इसके अलावा ब्राउजिंग हिस्ट्री वो होती है, जहां पर यूजर्स पिछले कुछ समय में गया था, आप किन वेबसाइट्स पर गए, इसकी जानकारी को आप चाहे तो प्राइवेट भी कर सकते हैं. ऐसा करने से आपकी निजी जानकारियां सुरक्षित हो जाती हैं.

ऐसे करें ब्राउजर से कुकीज, कैशे और हिस्ट्री को डिलीट

1. सबसे पहले अपने पीसी या कंप्यूटर में क्रोम ब्राउजर को ओपन करें.
2. इसके बाद ऊपर की ओर दाई तरफ तीन डॉट पर क्लिक करें.
3. फिर मोर टूल्स में जाकर क्लीयर ब्राउजिंग डेटा पर क्लिक करें.
4. वहां पर कुछ बॉक्स को सेलेक्ट करें, जैसे ब्राउजिंग हिस्ट्री, डाउनलोडिंग हिस्ट्री, कुकीज और साइट डेटा.
5. आप ब्राउजर की बेसिक सेटिंग में भी जा सकते हैं, आप समय सीमा में बॉक्स में जाकर ऑल टाइम को सेलेक्ट करें.
6. अंत में आप क्लीयर डेटा बटन पर क्लिक कर सकते हैं.

also read

केरल में लेफ्ट समर्थक विधायक ने राहुल गांधी के DNA पर उठाए सवाल, कहा- नाम के साथ नहीं लगाना चाहिए गांधी

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन