April 23, 2024
  • होम
  • दिल्ली में कोरोना ने बढ़ाई टेंशन, 1603 नए मामले-3 की गई जान

दिल्ली में कोरोना ने बढ़ाई टेंशन, 1603 नए मामले-3 की गई जान

  • WRITTEN BY: Riya Kumari
  • LAST UPDATED : April 20, 2023, 10:12 pm IST

नई दिल्ली: दिल्ली में कोरोना संक्रमण कम होने का नाम नहीं ले रहा है जिससे पूरी दिल्ली की टेंशन इस समय बढ़ी हुई है. दिन प्रतिदिन राष्ट्रीय राजधांनी में कोरोना मरीजों की संख्या में इज़ाफ़ा देखने को मिल रहा है जिस कारण दिल्ली सक्रिय कोरोना केसेस के मामले में महाराष्ट्र से भी आगे निकल गई है. पिछले 24 घंटों की बात करें तो राजधानी में कोरोना के 1603 नए मामले सामने आए हैं जबकि इस दौरान 3 मरीजों की जान गई है. वहीं नए मामले सामने आने के बाद दिल्ली में अब कोरोना के कुल 6,120 सक्रिय मामले हैं.

ठीक होने वालों की बात करें तो पिछले 24 घंटों में दिल्ली में कुल 1,526 मरीजों की कोविड रिपोर्ट नेगेटिव आई है. इस समय दिल्ली में कोविड पॉजिटिविटी 26.75% बनी हुई है. आंकड़ों के अनुसार दिल्ली में एक दिन में 5993 कोरोना टेस्ट किए गए हैं.

कोरोना एक्टिव केसेस

इस समय पूरे देश में कोरोना की मार देखने को मिल रही है उत्तर से लेकर दक्षिण तक कोरोना मामलों में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है. प्रतिदिन भारत में 10 हजार से अधिक मामले देखने को मिल रहे हैं. पूरे देश में इस समय 65 हजार के करीब सक्रिय कोरोना मामले हैं जिसमें से 20 हजार तो केवल केरल में ही हैं. केरल के बाद महाराष्ट्र का नंबर था जो अब खिसक कर तीसरे नंबर पर आ गया है. इस समय दिल्ली में दूसरे स्थान पर सबसे अधिक सक्रिय कोरोना मामले हैं.

केरल के बाद राजधानी में सबसे ज़्यादा कोरोना के एक्टिव केसेस नज़र आ रहे हैं. दरअसल होम आईसोलेशन वाले मरीज भी दिल्ली में बढ़ गए हैं. कोविड का डाटा देने वाला आधिकारिक बेवसाइट outbreakindia.com के ताजा आंकड़े बताते हैं कि महाराष्ट्र में इस समय 6102 कोरोना के सक्रिय मामले हैं. देखा जाए तो महाराष्ट्र में कोविड केसेस कुछ कम हुए हैं. वहीं केरल और दिल्ली में नए मामले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. खासकर दिल्ली में संक्रमण दर दिन दोगुनी तो रात चौगुनी तेजी से बढ़ रही है. इस समय राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना की संक्रमण दर 25 फीसद है बनी हुई है. हालांकि राजधानी के अस्पतालों में ज़्यादा कोरोना मरीज नहीं हैं इनमें से अधिकांश घर में ही आइसोलेटेड हैं और 300 मरीज अस्पतालों में एडमिट हैं.

यह भी पढ़ें-

Ateeq-Ashraf Murder: आखिरी बार 7-8 दिन पहले घर आया था आरोपी लवलेश तिवारी, पिता ने कहा हमसे कोई मतलब नहीं

बड़ा माफिया बनना चाहते थे तीनों शूटर्स, पहले भी किए थे कई सारे मर्डर, जानिए अतीक को मारने वालों की कुंडली

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो