Ateeq-Ashraf Murder: आखिरी बार 7-8 दिन पहले घर आया था आरोपी लवलेश तिवारी, पिता ने कहा हमसे कोई मतलब नहीं

नई दिल्ली। कल देर रात आरोपी गैंगस्टर अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ अहमद की गोली मारकर हत्या कर दी गई। उसको गोली मारने वाले तीनों आरोपियों ने पुलिस के सामने खुद को सरेंडर कर दिया। मुख्य आरोपी लवलेश तिवारी के पिता यज्ञ तिवारी ने बड़ा बयान दिया है।

लवलेश प्रयागराज में कब से है, हमें नहीं पता

गैंगस्टर हत्याकांड के बाद आरोपी लवलेश तिवारी के पिता ने यज्ञ तिवारी ने बड़ा बयान दिया है, उन्होंने कहा है कि, “हमें इस बात की जानकारी नहीं है कि लवलेश वहां कैसे पहुंचा। हमें इससे कोई मतलब नहीं है। लवलेश प्रयागराज में कब से है हमें इस बात की कोई जानकारी नहीं है, यह आखिरी बार 7-8 दिन पहले घर आया था।”

इस वजह से की अतीक-अशरफ की हत्या

अतीक अहमद और अशरफ अहमद की हत्या के आरोपियों को पुलिस कस्टडी में लेकर पूछताछ कर रही है। इस पूछताछ में कई बड़े खुलासे किए हैं। एक आरोपी ने बताया कि माफिया अतीक अहमद का पाकिस्तान से संबंध था। उसने और उसकी गैंग में शामिल लोगों ने कई निर्दोश लोगों का कत्ल किया था। अतीक लोगों की जमीन हड़पने के लिए हत्याएं करवाता था। वो विरोध में गवाही देने वाले लोगों की भी नहीं छोड़ता था। उसका भी अशरफ भी ऐसा ही काम करता था, इसलिए हमने दोनों को मार दिया।

तीन आरोपियों ने हत्या को दिया अंजाम

बता दें कि अतीक और अशरफ के हत्या को तीन आरोपियों ने अंजाम दिया है। पहला मुख्य आरोपी लवलेश तिवारी, बांदा का रहने वाला है। वहीं दूसरा आरोपी सनी कासगंज से रहने वाला है, जबकि तीसरा आरोपी अरुण मौर्या हमीरपुर का रहने वाला है। मीडिया और पुलिस के सामने मर्डर करने के बाद तीनों खुद को सरेंडर कर दिया।

Latest news

spot_img