April 24, 2024
  • होम
  • महाराष्ट्र: नवनीत राणा की ओम बिड़ला को चिट्ठी- अनुसूचित जाति की वजह से पुलिस स्टेशन में नहीं मिला पानी

महाराष्ट्र: नवनीत राणा की ओम बिड़ला को चिट्ठी- अनुसूचित जाति की वजह से पुलिस स्टेशन में नहीं मिला पानी

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : April 26, 2022, 2:22 pm IST

महाराष्ट्र:

मुंबई।  महाराष्ट्र की राजनीति में इस वक्त लाउडस्पीकर और हनुमान चालिसा को लेकर विवाद छिड़ा हुआ है. इस पूरे विवाद में सत्ताधारी गठबंधन में शामिल शिवेसना और अमरावती से निर्दलीय सासंद नवनीत राणा (Navneet Rana) आमने-सामने है. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे के घर मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने के ऐलान के बाद महाराष्ट्र पुलिस ने सांसद नवनीत राणा और उनके पति विधायक रवि राणा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया. इसके बाद अब नवनीत राणा ने लोकसभा स्पीकर ओम बिड़ला को चिट्ठी लिखकर उद्धव सरकार और महाराष्ट्र पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए है।

चिट्ठी में छलका दर्द

लोकसभा सांसद नवनीत राणा ने लोकसभा स्पीकर को भेजी अपनी चिट्ठी में लिखा कि उन्हें 23 अप्रैल को पुलिस स्टेशन ले जाया गया. जिसके बाद 23 अप्रैल की पूरी रात उन्हे पुलिस स्टेशन में रखा गया. उन्होंने आगे लिखा कि पुलिस स्टेशन में मैंने कई बार पीने के लिए पानी मांगा. इसके बाद उन्हें रातभर पानी नहीं दिया गया. लोकसभा सांसद ने महाराष्ट्र सरकार पर बड़ा आरोप लगाते हुए लिखा कि स्टेशन में मौजूद पुलिस स्टाफ ने कहा कि मैं अनुसूचित जाति की हूं, इसीलिए मुझे अपने पीने वाले ग्लास में पानी नहीं दे सकते है. राणा ने लिखा कि सिर्फ मेरी जाति की वजह से मुझे बुनियादी मानवाधिकारों से दूर रखा गया।

बाथरूम नहीं जाने दिया गया, गाली भी दी

लोकसभा स्पीकर को लिखी चिट्ठी में नवनीत ने आगे कहा कि मुझे रात में बाथरूम जाना था, लेकिन पुलिसकर्मियों ने उन्हें जाने नहीं दिया. इसके बाद दोबारा कहने पर मुझे गाली भी दी गई. उन्होंने कहा कि वो नीच जाति वालों के पुलिस स्टेशन का बाथरूम इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देते है।

हिंदुत्व से भटक गई है शिवसेना

नवनीत ने अपनी चिट्ठी में आगे लिखा कि उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में शिवसेना अपने हिंदुत्व के सिद्धांतों से भटक गई है. महाविकास अघाड़ी सरकार जनता के भरोसे को लगातार तोड़ने का काम कर रही है. नवनीत ने आगे लिखा कि मैंने हनुमान चालीसा की मदद से शिवसेना में फिर से हिंदुत्व की लौ जगाने की कोशिश की थी. इसके लिए मैंने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भी निमंत्रण दिया था।

 

यह भी पढ़ें:

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

IPL 2022 Playoff Matches: ईडन गार्डन्स में हो सकते हैं आईपीएल 2022 के प्लेऑफ मुकाबले, अहमदाबाद में होगा फाइनल

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन