Tuesday, July 5, 2022

Delhi-NCR में बढ़े कोरोना के केस, अध्यापक-छात्र सब कोरोना की चपेट में, कहीं ये चौथी लहर का संकेत तो नहीं

नई दिल्ली: गुजरात और मुंबई में कोरोना का नया वैरिएंट मिलने से राजधानी दिल्ली में लोगों की टेनशन बढ़ गई है. दिल्ली में पहले की भांति सभी गतिविधियां शुरू हो गई है. ऐसे में यदि कोरोना का नया वैरिएंट यहां दस्तक देता है तो प्रदेशवासियों की मुश्किलें बढ़ सकती है. दिल्ली से सटे नोएडा और गाजियाबाद के कई स्कूलों में दर्जन भर से अधिक छात्र-छात्राएं कोरोना से संक्रमित पाए गए, इनमें एक छात्रा दिल्ली की रहने वाली है और वह गाजियाबाद के निजी स्कूल में पढ़ती है। जानकारी के मुताबिक यह छात्रा अपने माता-पिता के साथ जम्मू-कश्मीर से हाल ही में घूमकर लौटी है। नॉएडा के कई स्कूलों में टीचर्स और स्टूडेंटस भी कोरोना संक्रमित हैं, जिसके बाद ऑनलाइन क्लासेज शुरू कर दी गई हैं. गाज़ियाबाद में भी स्कूलों में कोरोना केस पाए जाने के बाद स्कूल प्रशासन ने क्लासेस को ऑनलाइन माध्यम से संचालित करने के आदेश दिए है.

क्या कोरोना का नया वैरिएंट देश में चौथी लहर लाएगा?

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों/ विशेषज्ञों ने देश में चौथी लहर आने से साफ-साफ इनकार नहीं कर रहे हैं, उनका यह जरूर कहना है कि चौथी लहर पिछली 3 लहर की तरह खतरनाक नहीं होगी। देश में पहले की तरह हालात न बिगड़े इसके लिए केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण दिल्ली और अन्य राज्य सरकारों से कह चुके हैं कि संभावित संक्रमण के प्रसार वाले क्षेत्रों पर नियमित रूप से निगरानी रखी जाए और जरूरी कार्रवाई की जाए।

BA.1 और BA.2 से मिलकर बना है XE

वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन के मुताबिक कोरोना का यह नया वैरिएंट पहले से मौजूद ओमीक्रोन BA.2 से भी 10 गुना ज्यादा संक्रामक है। आसान भाषा में समझे तो यह ओमीक्रोन के ओरिजनल वेरिएंट से ये 43 फीसदी ज्यादा तेजी से फैलता है। कोरोना का यह नया वैरिएंट XE ओमीक्रोन के दो सब लीनेज BA.1 और BA.2 से मिलकर (रीकॉम्बिनेंट स्ट्रेन) बना है। ब्रिटेन द्वारा की गई एक हेल्थ स्टडी में पता चलता है कि मौजूदा समय में 3 हाइब्रिड COVID वेरिएंट चल रहे हैं। इसमें सबसे पहले डेल्टा और BA.1 के कॉम्बिनेशन से पैदा हुए दो अलग-अलग वेरिएंट XD और XF हैं, जबकि तीसरा XE है। हेल्थ रिपोर्ट्स और स्वास्थ्य जानकारों के मुताबिक XE वेरिएंट पुराने ओमीक्रोन के दो सब लीनेज BA.1 और BA.2 का रीकॉम्बिनेंट स्ट्रेन है। हालांकि अभी वर्ल्ड हेल्थ आर्गेनाईजेशन ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि जब तक XE वेरिएंट के ट्रांसमिशन और बीमारी के व्यवहार में महत्वपूर्ण बदलाव नहीं देखा जाएगा तब तक इसे ओमीक्रोन वेरिएंट से ही जोड़कर देखा जाएगा।

इन लक्षणों से हो जाए सावधान

थकान
सुस्ती
बुखार
सिर दर्द
शरीर में दर्द
घबराहट
दिल से जुड़ी समस्याएं

गाज़ियाबाद और नॉएडा के स्कूल में कोरोना केस

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक बार फिर कोरोना अपनी रफ्तार पकड़ने लगा है। जहां दो अलग-अलग स्कूलों में कोरोना संक्रमण के मामले मिलने के बाद स्कूलों को ऑफलाइन संचालित करना बंद कर दिया है और क्लासेस ऑनलाइन माध्यम से चल रही है। इंदिरापुरम (Indirapuram News) स्थित सेंट फ्रांसिस स्कूल में कोरोना के 2 मामले पाए गए हैं, जिसके बाद स्कूल प्रशासन ने एहतियातन 3 दिनों के लिए स्कूल बंद कर दिया है. इसके साथ ही गाज़ियाबाद के वैशाली (Vaishali, Ghaziabad) इलाके के आर मंगलम स्कूल के 3 बच्चे कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. 3 मामले सामने आने के बाद स्कूल प्रशासन ने स्कूल को 2 दिन बंद रखने का फैसला किया है साथ ही क्लास ऑनलाइन माध्यम से चलेगी। वहीं, नोएडा सेक्टर-40 स्थित द खेतान स्कूल में 13 छात्र और तीन शिक्षक कोरोना संक्रमित मिले हैं। इसके बाद स्कूल को बंद कर दिया गया है। कक्षाएं आनलाइन माद्यम से संचालित की जा रही है.

यह भी पढ़ें:

पाकिस्तान: सुप्रीम कोर्ट ने डिप्टी स्पीकर के फैसले को बताया गैर संवैधानिक

Story Of Sher Singh Raana : शेर सिंह राणा की बायोपिक करेंगे विद्युत जामवाल

Latest news

Related news

<1-- taboola end -->