February 28, 2024
  • होम
  • महाराष्ट्र: एकनाथ शिंदे VS उद्धव ठाकरे! दशहरा रैली ने बता दिया असली शिवसेना किसकी?

महाराष्ट्र: एकनाथ शिंदे VS उद्धव ठाकरे! दशहरा रैली ने बता दिया असली शिवसेना किसकी?

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : October 6, 2022, 9:16 am IST

एकनाथ शिंदे VS उद्धव ठाकरे!

मुंबई। महाराष्ट्र की राजनीति में बुधवार का दिन बेहद अहम रहा। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में लगभग आधी सदी से राज कर रही शिवसेना के दो गुटों ने दशहरा पर्व के अवसर पर शक्ति प्रदर्शन किया। मायानगरी की सड़कों पर शिवसैनिकों का सैलाब दिख रहा था। जहां एक तरफ ऐतिहासिक शिवाजी पार्क में उद्धव ठाकरे गुट की रैली थी, वहीं बीकेसी मैदान पर एकनाथ शिंदे गुट ने भीड़ इकठ्ठा की थी।

बालासाहेब का असली वारिस कौन?

दशहरा रैली के अवसर पर खुद को शिवसेना संस्थापक बालासाहेब ठाकरे का असली वारिस बताने वाले दोनों ही गुट, उद्धव और शिंदे ने एक-दूसरे पर जमकर वार किया। दोनों ने ही एक-दूसरे को न सिर्फ गद्दार कहा बल्कि अपने आप को असली शिवसैनिक बताया। शिंदे और उद्धव दोनों ही नेताओं ने रैली में आए विशाल जनसूमह की ओर इशारा करते हुए शिवसेना पर अपना दावा ठोका।

(एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे)
(एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे)

 

किसकी रैली में ज्यादा जुटी भीड़?

शिवसेना के दोनों धड़ों की दशहरा रैली में भारी संख्या में लोग जुटे। उद्धव गुट की शिवाजी पार्क में हुई रैली में शिवसैनिकों का जनसैलाब दिख रहा था। मंच पर उद्धव ठाकरे, आदित्य ठाकरे, रश्मि ठाकरे और कई पुराने शिवसेना नेता नजर आ रहे थे। वहीं, बीकेसी मैदान में आयोजित शिंदे गुट की रैली में सभी बागी विधायकों और सांसदों के साथ भारी संख्या में लोगों को हुजूम दिख रहा था। संख्या के लिहाज से देखें तो दोनों ही गुट की रैली में विशाल जनसमूह नजर आ रहा था।

(एकनाथ शिंदे की रैली-उद्धव ठाकरे की रैली)
(एकनाथ शिंदे की रैली-उद्धव ठाकरे की रैली)

असली शिवसैनिक किसके साथ?

बात करें अगर शिवसैनिकों की तो, उद्धव ठाकरे की रैली में ज्यादातर पुराने शिवसैनिक नजर आए। शिवाजी पार्क में महाराष्ट्र के कोने-कोने से हजारों की संख्या में शिवसैनिक पहुंचे थे। उद्धव ठाकरे के नेतृत्व के प्रति अपनी आस्था दिखाते हुए शिवसैनिकों ने कहा कि शिंदे गुट ने पैसों से भीड़ इकठ्ठा की है। शिंदे गुट की रैली की बात करे तो वहां पर ज्यादातर नए चेहरे दिख रहे थे। राजनीतिक विश्लेषकों की माने तो शिंदे गुट की रैली को सफल बनाने के लिए बीजेपी ने अपने कार्यकर्ताओं का सहयोग दिया था।

(एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे लोगों का अभिवादन करते हुए)
(एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे लोगों का अभिवादन करते हुए)

शिंदे के साथ उद्धव के भैया-भाभी

बता दें कि शिंदे गुट की रैली में सबसे ज्यादा चर्चा का विषय रहा जयदेव ठाकरे का मंच पर पहुंचना। बालासाहेब ठाकरे के बेटे और उद्धव के भाई जयदेव ठाकरे ने बीकेसी मैदान में पहुंचकर सबको चौंका दिया। उन्होंने सीएम शिंदे के साथ मंच साझा किया और लोगों से उन्हें समर्थन देने की बात कही। जयदेव के साथ उनकी पूर्व पत्नी स्मिता ठाकरे भी शिंदे गुट की रैली में पहुंची।

(एकनाथ शिंदे के साथ जयदेव ठाकरे)
(एकनाथ शिंदे के साथ जयदेव ठाकरे)

यह भी पढ़ें-

Russia-Ukraine War: पीएम मोदी ने पुतिन को ऐसा क्या कह दिया कि गदगद हो गया अमेरिका

Raju Srivastava: अपने पीछे इतने करोड़ की संपत्ति छोड़ गए कॉमेडी किंग राजू श्रीवास्तव

Tags