July 15, 2024
  • होम
  • सफ़ेद चोले में बलात्कारी बाबा! एक रेप केस में पहले ही सजा काट रहा है आसाराम

सफ़ेद चोले में बलात्कारी बाबा! एक रेप केस में पहले ही सजा काट रहा है आसाराम

  • WRITTEN BY: Riya Kumari
  • LAST UPDATED : January 31, 2023, 5:39 pm IST

नई दिल्ली: बुधवार(31 जनवरी) को आसाराम बापू के नाम से प्रसिद्ध सफ़ेद चोला धारी रेप के दोषी को गांधीनगर कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई है. ये पूरा मामला एक दशक पुराना यानी साल 2013 का है जब आसाराम पर उनकी महिला अनुयायी ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था. ऐसा नहीं है कि आसाराम पर ये पहला मामला है. पहली ही सैकड़ों आश्रम, लाखों भक्त, रोज प्रवचन, इज्जत, नाम, शौहरत वाले आसाराम बापू अपराध की सजा काट रहे थे. आइए जानते हैं वह कौन सा अपराध है जिसकी सजा पहले ही आसाराम काट रहा है.

2008 – आश्रम में मिली लाश

आसाराम अपने भक्तों को धोखा देता रहा जिसका खुलासा साल 2008 में हुआ. जब आसाराम के आश्रम से जुड़ी ऐसी खबर सामने आई जिसने पूरे देश को हिला कर रख दिया। दरअसल 2008 में आसाराम के आश्रम में पढ़ने वाली दो बच्चों के शव साबरमती नदीं से बरामद हुए. गुजरात के ही रहने वाले दस वर्षीय दो चचेरे भाई अभिषेक वाघेला और दीपेश वाघेला कुछ दिन पहले ही आसाराम के आश्रम में आए थे. लेकिन अधजली हालत में दोनों की डेड बॉडी नदी में मिली.

 

बेटे पर भी हुआ मामला दर्ज

आसाराम और उनके बेटे नारायण साईं पर सूरत में रहने वाली दो बहनों ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया। दोनों पीड़िता बहनें थीं जिनमें से पीड़िता की छोटी बहन ने आसाराम के बेटे नारायण साईं पर बलात्कार का आरोप लगाया था. बता दें, आसाराम का छोटा बेटा नारायण साईं सूरत की जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है.

जोधपुर कोर्ट ने सुनाई सजा

इस दौरान एक के बाद एक आसाराम के काले चिट्ठे सामने आ रहे थे. खबरें आने लगी की आसराम के आश्रम में तांत्रिक क्रियाएं होती हैं. उनपर आरोप लगा कि इसलिए साल 2008 में दो बच्चों का कत्ल किया गया था.इसके अलावा साल 2013 में ही आसाराम बापू पर राजस्थान में एक और नाबालिग के साथ रेप का मामला दर्ज़ किया गया था. इस मामले में आसाराम को राजस्थान पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद ही दूसरे मामले में पीड़िता और उसकी बहन ने प्रभावशाली आध्यात्मिक गुरु और नारायण साईं के खिलाफ आने का साहस जुटाया।

दूसरे मामले में भी दोषी

बहरहाल 25 अप्रैल, 2018 को जोधपुर की एक अदालत ने आसाराम को 2013 में अपने आश्रम में एक नाबालिग से बलात्कार का दोषी पाते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. इसे बाद आज उन्हें दूसरे मामले में भी दोषी पाते हुए गांधीनगर कोर्ट ने सजा सुनाई है. जानकारी के अनुसार आसाराम के वकील ने गांधीनगर कोर्ट के फैसले को चुनौती देते हुए सुप्रीम कोर्ट में जाने का फैसला किया है.

दिल्ली का अगला मेयर, गुजरात चुनाव और फ्री रेवड़ी, मनीष सिसोदिया ने बताए सारे राज!

India News Manch पर बोले मनोज तिवारी ‘रिंकिया के पापा’ पर डांस करना सबका अधिकार

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन