May 21, 2024
  • होम
  • हरिद्वार: जिला कारागार में भागवत कथा का आयोजन, यहां सभी धर्मों के होते हैं कार्यक्रम

हरिद्वार: जिला कारागार में भागवत कथा का आयोजन, यहां सभी धर्मों के होते हैं कार्यक्रम

हरिद्वार/देहरादून: हिंदू धर्म में मां भगवती की पूजा का विशेष महत्व होता है. पुराणों में वर्णन किया गया है कि मां भगवती की उपासना करने से सभी कष्ट दूर हो जाती है. नवरात्र में हरिद्वार जिला कारागार में मां भगवती की भक्ति का विशेष रूप देखने को मिला हैं. हरिद्वार जिला कारागार में नवरात्र के मौके पर बंदी कैदियों को सच्चे मार्ग पर लाने के लिए श्रीमद् देवी भागवत कथा का आयोजन किया गया. इसमें बंदी कैदी मां की भक्ति में रम गए हैं. जेल प्रशासन द्वारा किए जा रहे श्रीमद् देवी भागवत कथा के आयोजन में पहुंचे संत समाज ने भी इस कार्य की सराहना की.

यहां के वरिष्ठ जेल अधीक्षक मनोज आर्य का कहना है कि ऐसी कथाओं से जेल में बंदी कैदियों पर सकारात्मक उर्जा का प्रभाव पड़ता है. इस तरह के कार्यक्रम हरिद्वार जेल में समय-समय पर होते रहते है. इससे बंदी कैदियों के जीवन में परिवर्तन भी देखने को मिलता है. जेल अधीक्षक मनोज आर्या का कहना है कि सभी धर्म के बंदी कैदी जेल में रहते है. हमारा हमेशा प्रयास रहता है कि जेल में सभी धर्म के धार्मिक कार्यक्रम आयोजित हो. जिससे सभी धर्म के लोगों पर सकारात्मक उर्जा का प्रभाव पड़ता है.

जेल में हर धर्म के होते हैं कार्यक्रम

जेल प्रशासन द्वारा किए जा रहे श्रीमद् देवी भागवत कथा के आयोजन में पहुंचे संत समाज ने भी इस कार्य की सराहना की. वहीं श्री महंत पुरी महाराज का कहना है कि आज ऐसा लग रहा है कि यह जेल नहीं बल्कि एक मठ है. श्रीमद् देवी भागवत कथा के जरिए सभी बंदी कैदियों ने मां का भजन कीर्तन किया. यहां हर धर्म के कार्यक्रम आयोजित होते है. सभी बंदी कैदियों को श्रीमद् देवी भागवत कथा के जरिए पुण्य का लाभ मिलेगा. हम आशीर्वाद देते हैं कि जेल से बाहर आने के बाद बंदी कैदियों अच्छे मार्ग पर चले.

यह भी पढ़ें- 

बीच सड़क पर क्यों युवक ने 1 करोड़ की लेम्बोर्गिनी में लगा दी आग, देखें Video

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन