बिहार: मुखिया के घर से तीन बदमाश हथियार के साथ अरेस्ट, बड़ी घटना को अंजाम देने का था प्लान

पटना: बिहार के सीवान जिले में पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है. पुलिस ने एक मुखिया के घर के बाहर से तीन खतरनाक अपराधियों को हथियार के साथ बीते शनिवार को अरेस्ट किया है. ये तीनों अपराधी मुखिया के घर पर इकट्ठा हुए थे. सीवान के एसपी शैलेश कुमार सिन्हा ने बीते रविवार को बताया कि हुसैनगंज थाना क्षेत्र के बघौनी मुखिया ज्योति देवी के घर के बाहर से तीनों अपराधियों की गिरफ्तारी हुई है जो मुखिया के घर ही बैठकर बड़ी घटना को अंजाम देने का प्लान बना रहे थे।

बदमाशों के पास से हथियार बरामद

गिरफ्तार अपराधियों की पहचान पचरुखी थाना क्षेत्र के हरदिया निवासी अंगद मिश्रा, आंदर थाना क्षेत्र स्थित भरौली निवासी अजीत कुमार उर्फ अमर कुमार और सराय ओपी थाना क्षेत्र स्थित मखदूम सराय निवासी बिक्रमजीत गुप्ता उर्फ झिंगना के रूप में हुई है. पुलिस ने इन अपराधियों के पास से 2 देसी पिस्टल, 1 कट्टा और 7 जिंदा कारतूस बरामद किया है।

मिली थी गुप्त जानकारी

एसपी शैलेश कुमार सिन्हा ने कहा, हमे गुप्त जानकारी मिली थी कि बघौनी गांव के मुखिया ज्योति देवी के घर पर 3 अपराधी किसी बड़ी घटना को अंजाम देने का प्लान बना रहे हैं. इस जानकारी के बाद एक टीम का गठन कर बघौनी गांव के मुखिया के घर पर छापेमारी हुई. इस दौरान तीन व्यक्ति मुखिया के घर से भागने का प्रयास करने लगे जिसे पुलिस की एक टीम द्वारा पकड़ लिया गया. तलाशी लेने पर तीनों व्यक्ति के पास से हथियार और कारतूस बरामद हुए.

एसपी सिन्हा ने आगे कहा कि गिरफ्तार अपराधियों ने स्वीकार किया है कि वो मुखिया पति स्व. विश्वकर्मा बिंद के साथ मिलकर भिन्न-भिन्न स्थानों पर कई अपराधिक घटनाओं को अंजाम देते थे. किसी लूट-पाट की घटना को अंजाम देने के लिए तीनों अपराधी यहां आए हुए थे।

कारगिल युद्ध के साजिशकर्ता थे मुशर्रफ, 1965 में भारत के खिलाफ लड़े थे युद्ध

Parvez Musharraf: जानिए क्या है मुशर्रफ-धोनी कनेक्शन, लोग क्यों करते हैं याद

Latest news

spot_img