June 17, 2024
  • होम
  • जन्माष्टमी आज मना रहे हैं? इतनी देर ही रहेगा शुभ मुहूर्त

जन्माष्टमी आज मना रहे हैं? इतनी देर ही रहेगा शुभ मुहूर्त

  • WRITTEN BY: Aanchal Pandey
  • LAST UPDATED : August 19, 2022, 10:42 am IST

नई दिल्ली, भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को जन्माष्टमी का पर्व पूरे देश में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है, गोकुल और वृन्दावन में आज कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जा रही है. ऐसे में आइए आपको जन्माष्टमी का शुभ मुहूर्त बताते हैं:

इस साल जन्माष्टमी का त्योहार रोहिणी नक्षत्र में नहीं मनाया जाएगा, दरअसल 18 और 19 दोनों ही तिथियों में रोहिणी नक्षत्र नहीं बन रहा है. इस साल रोहिणी नक्षत्र 20 अगस्त 2022 को सुबह 1 बजकर 53 मिनट पर शुरू होगा और 21 अगस्त 2022 को सुबह 4 बजकर 40 मिनट पर खत्म होगा, ऐसे में 19 अगस्त को जन्माष्टमी का शुभ मुहूर्त रात 10 बजकर 59 मिनट पर खत्म होगा.

जन्माष्टमी पर ब्रह्म मुहूर्त सुबह 04.32 AM से शुरू होगा और 05.16 AM तक रहेगा.
वहीं, अभिजित मुहूर्त 19 अगस्त दोपहर 12.04 PM बजे से 2.56 PM तक रहेगा.
गोधूलि मुहूर्त सुबह 06.47 PM से 07.11 PM तक रहेगा.

पूजा विधि

जन्माष्टमी पर सुबह स्नान करके व्रत या पूजा का संकल्प लें, आप चाहे तो जलाहार या फलाहार के साथ भी यह उपवास रख सकते हैं. मध्यरात्रि को भगवान कृष्ण की धातु की प्रतिमा को किसी पात्र में रखें, इस प्रतिमा को दूध, दही, शहद, शक्कर और अंत में घी से स्नान कराएं. इसे पंचामृत भी कहा जाता है. इसके बाद कान्हा को जल से स्नान कराएं, फिर भगवान को फल और फूल अर्पित करें. ध्यान रखें अर्पित की जाने वाली चीजें शंख में डालकर ही अर्पित करें. ख्याल रहे काले या सफेद वस्त्र धारण करके पूजा ना करें.

वास्तु में मोर पंख को सकारात्मक ऊर्जा का प्रतीक माना गया है, ऐसे में वास्तु के मुताबिक कृष्ण जन्माष्टमी के दिन घर में मोर पंख लाने से ना सिर्फ सकारात्मक ऊर्जा आती है, बल्कि घर से वास्तु दोष भी खत्म होता है. घर में मोर पंख रखना बहुत ही शुभ माना जाता है.

राजू श्रीवास्तव की हालत गंभीर! डॉक्टर्स ने दे दिया जवाब, बस दुआओं का सहारा

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन