June 26, 2024
  • होम
  • UP Politics: नितिन गडकरी से मिले जयंत चौधरी, जानें क्या है सियासी मायने

UP Politics: नितिन गडकरी से मिले जयंत चौधरी, जानें क्या है सियासी मायने

  • WRITTEN BY: Amisha Singh
  • LAST UPDATED : March 30, 2023, 4:50 pm IST

लखनऊ: चुनाव आयोग ने बुधवार को उत्तर प्रदेश की स्वार और छानबे विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव की घोषणा की। भारत निर्वाचन आयोग (ECI) ने दोनों राज्यों के मतदान केंद्रों पर उपचुनाव कराने के संबंध में जानकारी प्रदान की है। बाद में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से RLD प्रमुख जयंत चौधरी की मुलाकात ने राजनीतिक सरगर्मियां तेज कर दीं।

एक घंटे तक चली मुलाक़ात

दरअसल, RLD प्रमुख जयंत चौधरी ने बुधवार को दिल्ली में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की। दोनों के बीच यह मुलाकात करीब एक घंटे तक चली। इस मुलाकात के दौरान शामली के RLD विधायक प्रसन्ना चौधरी भी मौजूद थे। बैठक की तस्वीरें RLD विधायक ने भी साझा कीं। इन तस्वीरों में नितिन गडकरी, जयंत चौधरी और प्रसन्ना चौधरी के अलावा और तमाम लोग नजर आ रहे हैं।

 

किस वजह से हुई मुलाक़ात

सूत्रों का कहना है कि उनके बीच यह मुलाकात दिल्ली देहरादून आर्थिक कॉरिडोर को लेकर हुई है। इस बैठक में RLD ने भाजू में दिल्ली-देहरादून आर्थिक गलियारे को काटने की अपील की गई थी। हालांकि इस मुलाकात के बाद राज्य में सियासी पारा चढ़ गया है। दरअसल, उपचुनाव राज्य की दो सीटों पर होगा। इस उपचुनाव में बीजेपी गठबंधन और सपा गठबंधन के बीच आमने-सामने की टक्कर होने के आसार हैं।

 

जानें सियासी मायने….

आपको बता दें कि सपा विधायक अब्दुल्ला आजम की सदस्यता छिनने के बाद स्वार का पद खाली हो गया था। अब इस सीट पर उपचुनाव हैं। इसके अलावा बीजेपी गठबंधन पार्टी अपना दल एसके के दिवंगत विधायक राहुल कोल के निधन के बाद छानबे की सीट खाली हुई थी। इन दोनों सीटों पर आने वाले 13 अप्रैल से नामांकन शुरू होने की उम्मीद है। इसके बाद दोनों सीटों पर 10 मई को मतदान होगा और 13 मई को मतों की गिनती होगी।

 

 

यह भी पढ़ें

Relationship: क्या है तलाक-ए-हसन? जानिए इस्लाम में कितने तरीके के होते हैं तलाक

 

 

 

 

 

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन