April 22, 2024
  • होम
  • 22 साल बाद किसी गैर गाँधी के हाथ में जाएगी कांग्रेस की कमान, जानें चुनाव प्रक्रिया

22 साल बाद किसी गैर गाँधी के हाथ में जाएगी कांग्रेस की कमान, जानें चुनाव प्रक्रिया

  • WRITTEN BY: Aanchal Pandey
  • LAST UPDATED : October 16, 2022, 5:02 pm IST

नई दिल्ली. देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होने वाले हैं, तकरीबन 22 साल पहले सोनिया गांधी और जितेंद्र प्रसाद के बीच मुकाबला हुआ था, जिसमें सोनिया गाँधी को एकतरफा जीता मिली थी, तब से ये पद गांधी परिवार के पास ही है. कल कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए मतदान होने वाले हैं. अबकी बार गांधी परिवार सक्रिय राजनीति में रहते हुए अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ रहा, ऐसे में इस बार अध्यक्ष पद के लिए वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खरगे और शशि थरूर के बीच मुकाबला होना है.

ऐसे होगा चुनाव

कांग्रेस के इतिहास में इससे पहले सिर्फ दो बार ही अध्यक्ष पद के लिए चुनाव करवाए गए हैं. अधिकतर ये पद गाँधी परिवार के पास ही रहा है. आइए आज हम आपको अध्यक्ष के चुनाव के प्रक्रिया के बारे में बताते हैं-
चुनाव करवाने के लिए सबसे पहले CEA यानि सेंट्रल इलेक्शन अथॉरिटी का गठन किया जाता है, अगर हम इसे आसान भाषा में समझें तो इसे हम कांग्रेस का चुनाव आयोग कह सकते हैं. यही अथॉरिटी चुनाव की पूरी प्रक्रिया क सुनियोजित करती है. चीफ इलेक्शन अथॉरिटी को चुनाव की पूरी ज़िम्मेदारी सौंप दी जाती है.

कौन करता है CEA का गठन

अब सवाल ये उठता है कि CEAका गठन करता कौन है? तो बता दें इस अथॉरिटी का गठन CWC के मदद से कांग्रेस अध्यक्ष करता है. ऐसे देखें तो ज्यादातर अध्यक्ष पद गाँधी परिवार के पास ही रहा है. सिर्फ दो ही बार चुनाव हुए हैं, साल 2017 में भी अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होने वाले थे लेकिन उस समय सबने सर्व सम्मति से राहुल गाँधी को चुन लिया था इसलिए चुनाव नहीं हुआ था.

प्रक्रिया

अब चीफ इलेक्शन अथॉरिटी के गठन के बाद बूथ कमेटी, ब्लॉक कमेटी और फिर जिला संगठन को बनाया जाता है. इन कमेटियों का काम प्रदेश कांग्रेस कमिटी का प्रतिनिधि चुनने का होता है और इन्हीं कमिटियों के प्रभारी को पीसीसी भी कहते हैं. हर ब्लॉक से एक प्रतिनिधि का चुनाव किया जाता है. इसके बाद हर 8 पीसीसी पर एक केंद्रीय कांग्रेस कमिटी के प्रतिनिधि या एआईसीसी (ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी) डेलिगेट चुना जाता है. एआईसीसी और पीसीसी का अनुपात एक और आठ का होता है. पीसीसी डेलिगेट्स के वोटों से ही प्रदेश कांग्रेस कमिटी का अध्यक्ष और पार्टी अध्यक्ष का चुनाव किया जाता है.

 

UP PET 2022: 11 जिले, सॉल्वर गैंग के 23 लोग, 6 लाख से ज्यादा ने छोड़ी परीक्षा

भोजपुरी फिल्म की मशहूर एक्ट्रेस ने साजिद खान पर लगाएं आरोप कहा की थी गंदे तरीके से छूने की कोशिश

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो