‘पहले ही दिन झुक गया सेंगोल… पहलवानों पर कार्रवाई को लेकर CM स्टालिन का बयान

नई दिल्ली: रविवार को दिल्ली पुलिस द्वारा पहलवानों को हिरासत में लिए जाने पर तमिलनाडु सीएम एम के स्टालिन ने तीखी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि पहले ही दिन नए संसद भवन में स्थापित सेंगोल झुक गया. पहलवान विनेश फोगट, साक्षी मलिक और बजरंग पुनिया को दिल्ली में कानून व्यवस्था के उल्लंघन के लिए पुलिस द्वारा हिरासत में लिया गया था.

 

पहलवानों पर कार्रवाई को लेकर फूटा गुस्सा

सीएम स्टालिन ने आगे कहा कि दिल्ली पुलिस ने पहलवानों को उस समय हिरासत में लिया जब वह जंतर-मंतर से नए संसद भवन की ओर मार्च निकल रहे थे.

सीएम स्टालिन ने ट्वीट कर आगे कहा कि भाजपा सांसद के खिलाफ महिला पहलवानों ने महीनों पहले आरोप लगाए थे. लेकिन भाजपा के नेतृत्व ने बृजभूषण सिंह के खिलाफ कार्रवाई नहीं की और पुलिस द्वारा पहलवानों को घसीटा गया. पहलवानों को घसीटकर हिरासत में लेना निंदनीय है जिससे पता चलता है कि पहले ही दिन संगोल झुक गया है. आगे उन्होंने सवाल उठाया कि इस तरह का अत्याचार (नए संसद भवन) क्या उद्घाटन के दिन भी होना क्या उचित है? बता दें, स्टालिन से पहले खरगे, राहुल गांधी समेत कई विपक्षी नेता इस गिरफ्तारी को लेकर ट्वीट कर नाराज़गी जता चुके हैं.

रिहा हुए पहलवान

पहलवानों का समर्थन कर रहे किसान नेताओं ने इस दौरान दिल्ली कूच करने के प्रयास किए जिन्हें गाज़ियाबाद बॉर्डर पर ही रोक लिया गया. इस दौरान राकेश टिकैत ने कहा था कि या तो पहलवानों को रिहा कर दिया जाए या फिर उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाए. अब पहलवानों को रिहा कर दिया गया है जिसके बाद राकेश टिकैत ने अपना प्रदर्शन ख़त्म करने की घोषणा कर दी है. उन्होंने कहा है कि कुछ लोगों को छोड़ दिया गया है. पहलवानों को अभी भी उनका समर्थन है ऑर्जिन लोगों ने भी उन्हें समर्थन दिया उनको वह धन्यवाद देते हैं. अब धरना ख़त्म करते हुए किसान वापस लौटते हैं.

New Parliament House: नए संसद के उद्घाटन के बाद PM Modi ने किया ट्वीट, जानिए क्या कहा

नई संसद के उद्घाटन के बाद हुई ‘सर्व-धर्म’ प्रार्थना, PM मोदी और स्पीकर बिड़ला रहे मौजूद

Latest news

spot_img