March 2, 2024
  • होम
  • महारानी एलिज़ाबेथ को अंतिम विदाई देने ब्रिटेन जाएंगी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

महारानी एलिज़ाबेथ को अंतिम विदाई देने ब्रिटेन जाएंगी राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

  • WRITTEN BY: Aanchal Pandey
  • LAST UPDATED : September 14, 2022, 5:27 pm IST

नई दिल्ली. भारत की राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू महारानी एलिज़ाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए लंदन जाने वाली हैं. विदेश मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी है कि राष्ट्रपति मुर्मू 17-19 सितंबर तक ब्रिटेन के दौरे पर होंगी, जहां वो महारानी के अंतिम संस्कार में शामिल होंगी और भारत सरकार की तरफ से संवेदना व्यक्त करेंगी. ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 8 सितंबर को निधन हो गया था, जिनका अंतिम संस्कार लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर एब्बे में 19 सितंबर को किया जाएगा, जहां कई देशों के प्रमुख पहुंचेंगे.

दुनियभर के 2000 मेहमान होंगे शामिल

महारानी के अंतिम संस्कार में दुनियभर से 2000 मेहमान शामिल होंगे, जिसमें करीब 500 प्रतिष्ठित होंगे. वहीं महारानी का अंतिम संस्कार भारतीय समय के मुताबिक, 3.30 बजे किया जाना है. जिन देशों के साथ ब्रिटेन के राजनयिक संबंध हैं, उनके नेताओं को अंतिम संस्कार में बुलाया गया है, इसी कड़ी में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन भी अपनी पत्नी जिल बाइडन के साथ महारानी की अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए लंदन जाने वाले हैं.

इनके अलावा कॉमनवेल्थ राष्ट्रों के प्रमुख, जहां की महारानी राष्ट्रध्यक्ष भी थीं- वहां के नेताओं के भी शामिल होने की उम्मीद है. न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जैसिंडा आर्डन 24 घंटे की यात्रा कर लंदन पहुंचेंगी, इसके साथ ही कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो और ऑस्ट्रेलियाई प्रधान मंत्री एंथनी अल्बनीस भी 19 सितंबर को लंदन में होंगे. हालांकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए जाएंगे या नहीं, इसकी अभी तक पुष्टि नहीं की गई है, लेकिन राष्ट्रपति के जाने की पुष्टि कर दी गई है.

क्वीन एलिजाबेथ II ने एक पत्र लिखा था, इस पत्र को ऑस्ट्रेलिया की एक बेहद खास तिजोरी में महफूज़ रखा गया है. इस पत्र को खोलने की तारीख भी तय है और उससे पहले इसे नहीं खोला सकता. इस पत्र को नवंबर 1986 में लिखा गया था, अब महारानी एलिज़ाबेथ के निधन के बाद इस पत्र को लेकर दुनियाभर के लोगों का रोमांच पैदा हो रहा है कि आखिरकार इसमें महारानी ने क्या लिखा था. लेकिन इसको खोला नहीं जा सकता, इस पत्र को साल 2085 में ही खोला जाएगा.

Goa Congress: गोवा में कांग्रेस को बड़ा झटका, 11 में से 8 विधायक बीजेपी में शामिल

Tags