पीएम मोदी ने बांटे एक लाख नियुक्ति पत्र, कहा- पहले रिश्वत का खेल होता था, हमने पूरी प्रक्रिया पारदर्शी बनाई

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज रोजगार मेले के तहत 1 लाख से ज्यादा युवाओं को नियुक्त पत्र बांटे. बता दें कि आगामी लोकसभा चुनाव से पहले यह केंद्र सरकार का 12वां और आखिरी रोजगार मेला है. इस दौरान पीएम मोदी ने राजधानी दिल्ली में कर्मयोगी भवन की भी आधारशिला रखी. उन्होंने कहा कि यह परिसर मिशन कर्मयोगी के बीच सहयोग और तालमेल बढ़ाएगा.

प्रधानमंत्री मोदी ने क्या कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम को वर्चुअली संबोधित करते हुए कहा कि आज देश का हर युवा ये बात जानता है कि अगर वह कड़ी मेहनत करे तो फिर वह अपने लिए जगह बना सकता है. उन्होंने कहा कि साल 2014 से हम युवाओं को देश के विकास में भागीदार बनाने की कोशिश कर रहे हैं. पिछली सरकार की तुलना में हमने युवाओं को 1.5 प्रतिशत अधिक नौकरियां दी हैं.

पहले होता था रिश्वत का खेल

प्रधानमंत्री मोदी ने कार्यक्रम में आगे कहा कि पहले नौकरी के लिए विज्ञापन जारी होने से लेकर नियुक्ति पत्र देने तक काफी लंबा वक्त लग जाता था. इस दौरान देरी का फायदा उठाकर रिश्वत का खेल भी जमकर खेला जाता था. जब 2014 में हमारी सरकार आई तो हमने भर्ती की प्रक्रिया को पूरी तरह पारदर्शी बना दिया. अब विज्ञापन जारी होने से लेकर नियुक्ति पत्र बांटने तक में देरी नहीं होती है.

यह भी पढ़ें-

रिफॉर्म, परफॉर्म और ट्रांसफॉर्म के थे पांच साल… 17वीं लोकसभा के आखिरी सत्र में बोले पीएम मोदी

Latest news