Tuesday, October 4, 2022

 मौलाना शहाबुद्दीन का बयान: जो उपद्रव मचा रहा है वो मुसलमान नहीं हो सकता

बरेली। बरेली के मौलाना शहाबुद्दीन रिज़वी ने भारतीय जनता पार्टी की पूर्व प्रवक्ता नुपुर शर्मा की टिप्पणी पर राज्य की शांति भंग करने की कोशिश कर रहे मुसलमानों से मार्मिक अपील की है। मौलाना का मानना ​​है कि एक अच्छा मुसलमान कभी भी हिंसा के रास्ते पर नहीं जाता। वह हमेशा शांति पसंद करता है और पैगंबर की अच्छी बातों को समाज में फैलाता है।

मुस्लिमों से की ये अपील

बरेली में अखिल भारतीय तंजीम उलेमा-ए-इस्लाम के राष्ट्रीय महासचिव मौलाना शहाबुद्दीन रिजवी ने कहा कि पैगंबर का मानना ​​है कि एक अच्छा मुसलमान वह है जिसके हाथ और जीभ किसी को नुकसान नहीं पहुंचाते। उन्होंने कहा कि हम राज्य के साथ-साथ देश के सभी मुसलमानों से अनुरोध करना चाहते हैं कि हम पैगम्बर व इस्लाम का मानने वाले हैं। जिन्होंने हमें शांति और सद्भाव का संदेश दिया।

उन्होंने कहा कि किसी भी मुद्दे पर हर जगह विरोध करना हमारा जम्हूरी हक (लोकतांत्रिक अधिकार) है और इसका सम्मान किया जाना चाहिए लेकिन कानून के दायरे में। उन्होंने कहा कि बस इसी वजह से मैं सभी लोगों से अपील करता हूं कि वे शांति जामन न छोड़ें, कानून के दायरे में रहकर विरोध करें।

मौलाना शहाबुद्दीन रिजवी ने कहा कि पैगंबर मोहम्मद ने कहा कि एक अच्छा मुसलमान वह है जो अपने हाथों (कर्मों) या जीभ (शब्दों) से किसी को दर्द नहीं देता। इसलिए मैं सभी से कानून के दायरे में विरोध करने की अपील करता हूं।

गौरतलब है कि शुक्रवार की नमाज के बाद राज्य के प्रयागराज, हाथरस, फिरोजाबाद, सहारनपुर, मुरादाबाद और अंबेडकर नगर में कुछ लोगों ने बाजार जा रहे लोगों पर पथराव किया। उनका प्रयास राज्य के सांप्रदायिक माहौल को खराब करने का था। पुलिस ने स्थिति को नियंत्रण में कर लिया है।

ये भी पढ़े-

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news