भारत में लगातार चौथे दिन बढ़े कोरोना के केस, एक दिन में 8,329 नए मामले, मरीजों की संख्या 40 हजार के पार

नई दिल्ली। भारत में कोरोनावायरस के नए मामलों की संख्या एक बार फिर तेजी से बढ़ रही है। देश में पिछले 24 घंटों में अकेले कोरोना के 8,329 नए मामले दर्ज किए गए हैं। गुरुवार को मिले मामलों की तुलना में यह करीब 10 फीसदी की बढ़ोतरी है. इसी के साथ यह लगातार चौथा दिन है, जब देश में रोजाना कोरोना के मामलों की संख्या में इजाफा दर्ज किया गया है..देश में जहां सात जून को रोजाना केसों की संख्या पांच हजार के पार थी, वहीं अब यह संख्या आठ हजार को पार कर गई है।

10 लोगों की हुई मौत

इसके साथ ही भारत में सक्रिय कोरोना मरीजों की संख्या 40,370 पहुंच गई है। हालांकि राहत की बात यह है कि पिछले एक दिन में कोरोना से सिर्फ 10 लोगों की मौत हुई है। यानी संक्रमण दर बढ़ने के बावजूद मृत्यु दर में इजाफा नहीं हुआ है।

गौरतलब है कि भारत में गुरुवार को कोरोना के 7584 मामले मिले, जबकि बुधवार को रोजाना मिले मरीजों की संख्या 7240 थी. देश में 7 जून को कोरोना के 5233 मामले सामने आए। 6 जून (मंगलवार) को 3741 नए संक्रमित मिले। यानी पिछले चार दिनों में रोजाना मामलों की संख्या करीब ढाई गुना पहुंच गई है।

क्या आने वाली है चौथी लहर

देश में कोरोना के मामले दिन-ब-दिन बढ़ते ही जा रहे हैं। इस बीच कोरोना की चौथी लहर को लेकर लोगों और जानकारों में आशंकाएं पैदा हो गई हैं। देश में लगातार बढ़ रहे मामलों पर आईसीएमआर की एडीजी सिमरन पांडा ने कहा कि यह कहना सही नहीं होगा कि चौथी लहर आ रही है। हमें अभी भी जिला स्तर पर जानकारी एकत्र करने और उसकी समीक्षा करने की आवश्यकता है। कुछ जिलों में कोरोना के बढ़ते मामलों से यह अनुमान नहीं लगाया जा सकता है कि पूरे देश में हालात बिगड़ रहे हैं। कोरोना का हर रूप चिंताजनक और खतरनाक नहीं है।

विशेषज्ञों ने कही ये बात

इससे पहले भी कई शीर्ष विशेषज्ञ कह चुके हैं कि जब तक भारत में एक नए कोरोना संस्करण का पता नहीं चलता है, तब तक चौथी लहर की संभावना को सही नहीं माना जा सकता है। मैक्स हेल्थकेयर के निदेशक डॉ. रोमेल टिक्कू ने गुरुवार को कहा कि भारत में चौथी लहर की संभावना नहीं है जब तक कि एक नए कोरोना संस्करण की रिपोर्ट नहीं की जाती है और पिछले संस्करण से अलग विशेषताएं हैं।

उन्होंने कहा कि लोग अलग-अलग जगहों की यात्रा कर रहे हैं, जिससे देश में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। भारत में कोरोना को लेकर किसी बड़े उछाल की आशंका नहीं है। हालांकि उन्होंने कोरोना महामारी को लेकर एहतियात बरतने और कोविड-संगत व्यवहार का पालन करने की बात कही है। उन्होंने बताया कि कोरोना एक वायरल बीमारी है, यह अभी हमारे बीच रहेगी।

ये भी पढ़े-

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news