Akanksha Dubey Case: समर सिंह का दोस्त संजय सिंह बनारस से गिरफ्तार, मामले में पुलिस कर रही थी छानबीन

मुंबई: भोजपुरी एक्ट्रेस आकांक्षा दुबे को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में सिंगर समर सिंह के बाद अब दोस्त संजय सिंह को भी कल बुधवार की शाम गोइठहां क्षेत्र से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बता दें क्राइम ब्रांच और सारनाथ थाने की पुलिस की संयुक्त टीम ने इस मामले में आरोपी संजय सिंह को पकड़ा।

दरअसल संजय सिंह को कोर्ट में पेश कर न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। खबर के मुताबिक जिला जेल में बंद भोजपुरी सिंगर समर सिंह के साथ ही उसके दोस्त संजय सिंह के खिलाफ भी एक्ट्रेस आकांक्षा दुबे को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में सारनाथ थाने में मुकदमा दर्ज है।

कोर्ट में समर्पण करने की फिराक में था

आकांक्षा दुबे के आत्महत्या मामले में संजय सिंह के खिलाफ कोर्ट से गैर जमानती वारंट जारी था। साथ ही पुलिस उसकी संपत्ति की कुर्की का वारंट हासिल करने के कानूनी प्रोसेस में लगी हुई थी। वहीं सर्विलांस और मुखबिर की सहायता से कल बुधवार की शाम क्राइम ब्रांच को पता लगा कि संजय सिंह यूपी के गोइठहां में मौजूद है।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कोर्ट में समर्पण करने के लिए वह अपने करीबियों के जरिए किसी अधिवक्ता से मुलाकात करने शहर की तरफ जाएगा। बताया जा रहा है कि इस जानकरी के आधार पर सारनाथ थाने की आशापुर चौकी के प्रभारी अखिलेश वर्मा, दरोगा अजय यादव, हेड कांस्टेबल रामबाबू और रामानंद यादव और क्राइम ब्रांच के दरोगा मनीष मिश्रा ने आरोपी समर सिंह के दोस्त संजय सिंह को घेर कर अपने शिकंजे में लिया।

पुलिस के मुताबिक, संजय सिंह जिला जेल में बंद गायक समर सिंह के यूट्यूब चैनल के प्रोडक्शन, डिस्ट्रीब्यूशन और साथ ही मैनेजमेंट का काम देखता था। भोजपुरी सिंगर समर के लेनदेन से जुड़े काम और साथ ही वित्तीय मामलों में भी संजय सिंह की एक अहम भूमिका रहती है। इस कारण समर के चुनिंदा करीबियों में से संजय सिंह भी शामिल है।

संजय की आकांक्षा से बस एक बार हुई थी मुलाकात

इस मामले में पुलिस की पूछताछ में संजय सिंह ने बताया कि एक्ट्रेस आकांक्षा दुबे से उसकी केवल एक बार मुलाकात हुई थी। साथ ही उन्होंने बताया कि आकांक्षा और उसके बीच कभी बातचीत भी नहीं होती थी। पिछले महीने की 27 तारीख को मुकदमा दर्ज होने के बाद से वह छिपा हुआ क्यों था? पूछताछ के दौरान पुलिस के इस सवाल पर संजय ने बताया कि वह आज तक कभी कानूनी पचड़े में नहीं फंसा था। मुकदमा दर्ज होने की सूचना मिलते ही वह डर गया था। इसी कारण वह घर और लखनऊ स्थित ऑफिस छोड़कर अपना मोबाइल स्विच ऑफ कर इधर से उधर छिपता फिर रहा था।

We Women Want में मंच पर बोली अलका लांबा, कहा- ‘आज सरकार के पास बहुमत लेकिन नियत नहीं’

Latest news

spot_img