May 26, 2024
  • होम
  • China Corona : कोरोना की मार से हार रहा चीन, वैक्सीन हो रही असफल, कराहते लोग कर रहे प्रदर्शन

China Corona : कोरोना की मार से हार रहा चीन, वैक्सीन हो रही असफल, कराहते लोग कर रहे प्रदर्शन

  • WRITTEN BY: Riya Kumari
  • LAST UPDATED : March 26, 2022, 8:16 pm IST

China Corona 

नई दिल्ली, China Corona  चीन में कोरोना का कहर कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है. जहां चीन की स्थिति पाबंदियों के बाद भी अत्यंत दयनीय ही बनी हुई है. कोविड से लड़ने वाली वैक्सीन नाकामयाब हैं. लोग प्रदर्शन कर रहे हैं.

जीरो कोविद पॉलिसी हुई असफल

वुहान में फैले कोरोना से फिलहाल निजात के कोई संकेत नहीं मिल रहे हैं. पिछले दो सालों से चीन में स्थितियां ज्यों की त्यों बनीं हुयी है. दुनिया की सबसे सख्त जीरो कोविड पॉलिसी भी इस महामारी की मार से चीन को बचाने में असफल नज़र आ रही है. बड़े पैमाने पर टेस्टिंग के साथ-साथ चीन में डिजिटल ट्रैकिंग भी की जा रही है. सीमाओं पर विशेष प्रतिबंध लगाए गए हैं. देश के करोड़ों लोग अब लॉक डाउन के कारण घरों में कैद हैं. पूरी दुनिया जब इस महामारी से जूंझ रही थी तब चीन में कोरोना की लहर समाप्त मानी जा रही थी. लेकिन अब आलम ये है की वहां की सरकार भी इससे लड़ने में असफल दिखाई पड़ रही है.

टीकाकरण भी हुआ फेल?

आपको बता दें की चीन में लाखों नहीं बल्कि अरबों खरबों की आबादी को. टीका लगाने के दावे किये जा रहे थे. फिलहाल ये दावे भी कहीं सिद्ध होते नज़र नहीं आ रहे हैं. या कोरोना की इस चपेट में वैक्सीन की भी कोई ख़ास भूमिका नज़र नहीं आ रही है. चीन की जीरो कोविड पॉलिसी को लेकर वहां की आवाम सवाल उठा रही है. लोगो इसके खिलाफ प्रदर्शन भी कर रहे हैं. टेक हब कहे जाने वाले चीन के शेनझेन शहर में रविवार को लोगों ने बड़े स्तर पर प्रदर्शन किया. बता दें कि चीन के लोग काफी लम्बे समय से यहां लॉक डाउन का विरोध भी कर रहे हैं.

चीन के कई स्थानों से लॉकडाउन को खोलने की मांग करते प्रदर्शनकारियों का वीडियो सामने आ रहा है जहां पर कोरोना के कारण लगाई गयी सभी पाबंदियों को हटाने की मांग की जा रही है. पिछले दिनों चीन के गुंआगझाऊ शहर से जो वीडियो सामने आया उसमें लोग बड़ी तादाद में लॉकडाउन से निकलने का प्रयास कर रहे हैं. चीन के इस प्रदर्शन को किसी दुर्लभ घटना के तौर पर देखा जा रहा है.

भारत दूसरा सबसे अधिक प्रभावित देश

चीन में बिगड़ते हालत हमारे लिए एक सबक बन सकते हैं कि अभी भी सख्ती की ज़रुरत है. खासतौर पर तब जब 43,016,372 मामलों के साथ भारत दूसरा सबसे अधिक कोरोना प्रभावित देश बन चुका हो.

यह भी पढ़ें:

Yogi Adityanath Shapath : ब्रजेश पाठक और केशव प्रसाद मौर्य बन सकते हैं उपमुख्यमंत्री, लिस्ट में कई नाम चौंकाने वाले

SHARE

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन