April 13, 2024
  • होम
  • Bertha Benz: दुनिया की पहली महिला ड्राइवर के चलते बनी मर्सिडीज बेंज जैसी कंपनी, जानिए पूरी बात

Bertha Benz: दुनिया की पहली महिला ड्राइवर के चलते बनी मर्सिडीज बेंज जैसी कंपनी, जानिए पूरी बात

नई दिल्ली: बेर्था बेंज दुनिया की ऐसी पहली महिला थीं जिन्होंने अपनी पति की बनाई कार को सड़कों पर उतारा और लोगों को जानकारी देने के लिए गाड़ी को करीब 100 किमी से अधिक दूरी तक चलाया. बेर्था बेंज ने जिस रास्ते पर कार चलाई उसे बेर्था बेंज मेमोरियल रूट के रूप में नाम दिया. साल 1888 में जर्मनी के मैनहेम से फोर्जियम तक कार चलाकर बेर्था बेंज दुनिया की पहली महिला ड्राइवर बनीं।।

कौन थीं बेर्था बेंज?

दुनिया में पहली बार सड़कों पर कार चलाने वाली महिला बेर्था बेंज जो मर्सिडीज बेंज के संस्‍थापक कार्ल बेंज की पत्नी थीं. इससे पहले बेर्था बेंज को दुनिया में कोई नहीं जानता था, लेकिन जर्मनी सड़क पर कार से 100 किमी से अधिक की दूरी तय करने के बाद बेर्था बेंज का नाम दुनियाभर में चर्चा होने लगा. अपको बता दें कि कार्ल बेंज ने अपने साथी डेमलर गॉटलीब के साथ मिलकर मर्सिडीज बेंज का निर्माण किया।

तिपहिया वाहन से 106 किमी दूरी तय की

आपको बता दें कि कार्ल बेंज ने पहली बार तीन पहियों पर चलने वाली कार का निर्माण किया था. वहीं कार बनने के 3 साल बाद तक एक भी मॉडल नहीं बिका. इसके बाद बेर्था बेंज ने अपने पति से कहा कि इस कार को लोगों के बीच इस्तेमाल करके दिखाया जाए तो इस कार के बारे में लोग जानेंगे और खरीदना चाहेंगे, लेकिन बेर्था बेंज के सुझाव को कार्ल बेंज ने इनकार कर दिया।

वहीं पति के मना करने के बावजूद बेर्था बेंज ने अपने मन की बात सुनी और अगस्त 1888 में कार्ल द्वारा बनाई गई कार को सड़क पर उतारा. इसके लिए बेर्था बेंज ने किसी से इजाजत नहीं ली. उसी कार से बेर्था बेंज ने मैनहेम से फोर्जियम तक 106 किमी का रास्ता तय किया. जिसके बाद कार्ल बेंज को उनके कारोबार में सफलता मिली।

Cabinet Meeting: पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिपरिषद की बैठक हुई शुरू

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो