June 15, 2024
  • होम
  • 75 साल बाद भारत से पाकिस्तान पहुंची रीना, पुश्तैनी घर देख आंखें भर आईं

75 साल बाद भारत से पाकिस्तान पहुंची रीना, पुश्तैनी घर देख आंखें भर आईं

नई दिल्ली: आजादी के दौरान भारत और पाकिस्तान का विभाजन हुआ था. उस समय लाखों लोगों को इसके दर्द का दंश झेलना पड़ा था. कई लोग अपने घरों को छोड़ पलायन करने पर मजबूर होना पड़ा था। इसी सब लोगों में से एक रीना वर्मा भी थीं, जिनका परिवार पुणे में आकर रहने लगा था। उस समय वह 14 वर्ष की थीं, अब इतने वर्षों बात वह अपने घर लौटीं जिसका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. आइए आपको बताते हैं रीना के घर वापसी की कहानी और वीडियो के बारे में.

1965 से जाने की प्रायास कर रही है रीना

महाराष्ट्र के पुणे की रहने वाली 90 वर्षीय रीना वर्मा छिब्बर 75 साल बाद अपने पुश्तैनी घर पहुंची हैं। वे अटारी से होते हुए पाक के लिए रवाना हुई हैं।पाकिस्तान सरकार ने सद्भावना के चलते रीना वर्मा को पाकिस्तान का 3 माह का वीजा दिया है। जन्मस्थान जाने के लिए रीना ने कई बार कोशिश की है और कई बार पाक उच्चायोग से वीजा आवेदन किया था। लेकिन कई सालों तक उन्हें इसकी इजाजत नहीं मिल सकी थी।

75 साल बाद अपने जन्मस्थान पर पहुंचीं रीना वर्मा

जानकारी के अनुसार कुछ समय पहले ही एक पोस्ट अपलोड कर उन्होंने एक बार फिर अपने पैतृक घर जाने की इच्छा जाहिर की थी। यह पोस्ट पाकिस्तानी नागरिक सज्जाद हैदर ने देखी और रीना से संपर्क किया। उनके कहने पर सज्जाद ने रावलपिंडी स्थित उनके घर की कुछ फोटो भी सोशल मीडिया के जरिए उन्हें भेजी। इसके बाद रीना वर्मा का संपर्क पाकिस्तान की विदेश राज्य मंत्री हिना रब्बानी से हुआ और उन्हें जाने का मौका मिल गया।

यादों ने कर दिया भावुक

रीना ने अपने माता-पिता और पांच भाई-बहन के साथ बिताए इन पलों को याद करते हुए कई घंटे अंदर बिताए. उन्होंने कहा कि मैं यह देखकर बहुत खुश हूं कि घर अभी भी बरकरार है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार रीना का जन्म रावलपिंडी में हुआ था। उनका वो पुश्तैनी घर देवी कॉलेज रोड पर था। वहीं के माडर्न स्कूल में शिक्षा प्राप्त की। उनके भाई और बहन ने भी उसी स्कूल में शिक्षा हासिल की।

National Herald Case: सोनिया गांधी से ईडी की पूछताछ जारी, देशभर में कांग्रेस का विरोध-प्रदर्शन

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन