इस ‘निर्भया’ की कहानी सुन सहम उठेंगे.. भाई के जन्मदिन पर घर से निकलीं और बोरे में मिलीं

ग़ाज़ियाबाद. उत्तर प्रदेश के ग़ाज़ियाबाद से एक बार फिर मानवता को शर्मसार कर देने वाली खबर सामने आ रही है, जहां 37 साल की महिला को पहले अगवा किया गया और फिर उसके साथ पांच-पांच लोगों ने दो दिनों तक लगातार दुष्कर्म किया. आरोपियों ने दो दिनों तक महिला की आबरू से खेला और फिर जब हवस का गंदा खेल खत्म हो गया तो उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड डाल दी.

ये है मामला

पुलिस की जांच में पता चला है कि 37 साल की पीड़िता दिल्ली के नंदनगरी इलाके की रहने वाली है, बीते 16 अक्टूबर को उसके भाई का जन्मदिन था. लिहाजा, वो अपने भाई की खुशी में शरीक होने के लिए अपने मायके पहुंची थी, यहाँ भाई का जन्मदिन मनाया और फिर अपने घर के लिए निकल पड़ी. पीड़िता के भाई ने बताया कि 16 अक्टूबर की रात को वो अपनी बहन को छोड़ने के लिए आश्रम रोड जा रहा था, लेकिन इससे पहले भाई-बहन ने नंदग्राम मार्केट में शॉपिंग की. कुछ राशन खरीदा और फिर पीड़िता का भाई 9 और साढ़े 9 बजे के बीच अपनी बहन को आश्रम रोड के ऑटो स्टैण्ड पर छोड़कर चला गया. उसका कहना है कि पार्टी में उसने ड्रिंक किया था इसलिए वो अपनी बहन को छोड़ने के लिए दिल्ली नहीं गया.

17 अक्टूबर को पीड़िता का परिवार उसे तलाश करता रहा, लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला और पूरा दिन बीत गया, फिर 18 अक्टूबर की सुबह करीब 3 बजे महिला के भाई के पास पुलिस का एक कॉल आता है और फिर वो फ़ौरन एमएमजी अस्पताल पहुंचा. पुलिस का कॉल आते ही उसे ये तो समझ आ गया था कि कोई अप्रिय घटना हुई है, लेकिन अस्पताल में बहन को देखकर उसके पैरो तले ज़मीन ही खिसक गई.

पीड़िता ने सुनाई आपबीती

एमएमजी अस्पताल के डॉक्टरों ने महिला की गंभीर हालत को देखते हुए उसे दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में रेफर कर दिया. वहां डॉक्टरों ने महिला का इलाज शुरू किया, पीड़िता के भाई ने बताया कि उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड जैसी कोई चीज़ डाली गई है.

जब जीटीबी अस्पताल में महिला की हालत में थोड़ा सुधार आया तो उसने पुलिस को अपनी आपबीती सुनाई, पीड़िता ने पुलिस को बताया कि वो दिल्ली के नंद नगरी इलाके की निवासी है. वो एक दिन पहले गाजियाबाद में अपने भाई के यहां जन्मदिन मनाने आई थी, यहाँ जब भाई ने उसे ऑटो स्टैण्ड पर छोड़ा तो वहां कुछ लोग आए और उसे अगवा कर ले गए, इन लोगों को वो जानती थी. वो लोग उसे किसी अनजान जगह ले गए और उसके साथ सभी ने तकरीबन दो दिनों तक बलात्कार किया.

वहीं जब पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि महिला और आरोपियों का प्रॉपर्टी को लेकर कोई विवाद चल रहा था, जिसके चलते इस संगीन वारदात को अंजाम दिया गया. हालांकि पुलिस ने महिला के प्राइवेट पार्ट में रॉड डाले जाने की बात से साफ़ मना कर दिया है. पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली है और पाँचों के खिलाफ मामला भी दर्ज कर लिया है. इनमे से चार को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है जबकि एक आरोपी अभी भी फरार चल रहा है.

 

Himachal Election: कांग्रेस ने जारी की 46 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट

नए वैरिएंट का जल्द से जल्द पता लगाया जाए, स्वास्थ्य मंत्री ने हाईलेवल मीटिंग में अधिकारियों को दिए निर्देश

Latest news