April 14, 2024
  • होम
  • President Draupadi Murmu: शपथ लेने के बाद द्रौपदी मुर्मू बोली- मेरा राष्ट्रपति बनना देश के हर गरीब की उपलब्धि

President Draupadi Murmu: शपथ लेने के बाद द्रौपदी मुर्मू बोली- मेरा राष्ट्रपति बनना देश के हर गरीब की उपलब्धि

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : July 25, 2022, 1:14 pm IST

President Draupadi Murmu:

नई दिल्ली। देश को आज अपना 15वां राष्ट्रपति मिल गया। नवनिर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने संसद भवन के सेंट्रल हॉल में देश के सबसे बड़े संवैधानिक पद की शपथ ली। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। शपथ ग्रहण के बाद राष्ट्रपति मुर्मू ने देश के नाम एक संबोधन दिया। जिसमें उन्होंने कहा कि उनका राष्ट्रपति बनना देश के हर गरीब की उपलब्धि है।

ऐसे शुरू हुआ राष्ट्रपति मुर्मू का पहला भाषण

जोहार ! नमस्कार ! मैं भारत के समस्त नागरिकों की आशा-आकांक्षा और अधिकारों की प्रतीक इस पवित्र संसद से सभी देशवासियों का पूरी विनम्रता से अभिनंदन करती हूं। आपकी आत्मीयता, विश्वास और आपका सहयोग, मेरे लिए इस नए दायित्व को निभाने में मेरी बहुत बड़ी ताकत होगी।

आज़ादी के अमृत महोत्सव का किया जिक्र

राष्ट्रपति मुर्मू ने अपने भाषण में कहा कि मुझे राष्ट्रपति के रूप में देश ने एक ऐसे महत्वपूर्ण कालखंड में चुना है जब हम अपनी आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहे हैं। आज से कुछ दिन बाद ही देश अपनी स्वाधीनता के 75 वर्ष पूरे करेगा।

सभी सांसदों और विधायकों का जताया आभार

द्रौपदी मुर्मू ने आगे कहा कि भारत के सर्वोच्च संवैधानिक पद पर निर्वाचित करने के लिए मैं सभी सांसदों और सभी विधानसभा सदस्यों का हार्दिक आभार व्यक्त करती हूं। आपका मत देश के करोड़ों नागरिकों के विश्वास की अभिव्यक्ति है।

ये जिम्मेदारी मिलना मेरा बहुत बड़ा सौभाग्य

राष्ट्रपति मुर्मू ने कहा कि ऐसे ऐतिहासिक समय में जब भारत अगले 25 वर्षों के विजन को हासिल करने के लिए पूरी ऊर्जा से जुटा हुआ है, मुझे ये जिम्मेदारी मिलना मेरा बहुत बड़ा सौभाग्य है।

बेहद खास संयोग में मिला ये नया दायित्व

द्रौपदी मुर्मू ने आगे कहा कि ये भी एक संयोग है कि जब देश अपनी आजादी के 50वें वर्ष का पर्व मना रहा था तभी मेरे राजनीतिक जीवन की शुरुआत हुई थी। और आज आजादी के 75वें वर्ष में मुझे ये नया दायित्व मिला है।

देश के करोड़ों सपनों और सामर्थ्य की झलक

राष्ट्रपति ने कहा कि मेरे इस निर्वाचन में देश के हर गरीब का आशीर्वाद शामिल है, देश की करोड़ों महिलाओं और बेटियों के सपनों और सामर्थ्य की झलक है। मेरे लिए बहुत संतोष की बात है कि जो सदियों से वंचित रहे, जो विकास के लाभ से दूर रहे, वे गरीब, दलित, पिछड़े तथा आदिवासी मुझ में अपना प्रतिबिंब देख रहे हैं।

Vice President Election 2022: जगदीप धनखड़ बनेंगे देश के अगले उपराष्ट्रपति? जानिए क्या कहते हैं सियासी समीकरण

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो