April 23, 2024
  • होम
  • पीएम को अगर सच में मणिपुर की चिंता तो CM बीरेन को हटाएं- कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे

पीएम को अगर सच में मणिपुर की चिंता तो CM बीरेन को हटाएं- कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : June 27, 2023, 4:16 pm IST

नई दिल्ली। पिछले करीब 2 महीने से हिंसा की आग में जल रहे मणिपुर में राज्य सरकार और सेना के सहयोग से दोबारा शांति बहार करने की कोशिश जारी है. इन सबके बीच कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने मणिपुर के मौजूदा हालात को लेकर पीएम मोदी से कई सवाल किए हैं. खड़गे ने कहा है कि अगर प्रधानमंत्री मोदी को सच में मणिपुर के लोगों की चिंता है तो उन्हें सबसे पहले सीएम एन बीरेन सिंह को हटाना चाहिए.

‘घोर विफलता’ नहीं छिपा सकते

मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के नेतृत्व वाली सरकार में मणिपुर में अपनी घोर विफलता को प्रोपेगेंडा के जरिए छिपा नहीं सकती है. कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा कि ऐसी खबरें चल रही हैं कि मणिपुर के हालात को लेकर आखिरकार केंद्रीय गृह मंत्री ने प्रधानमंत्री मोदी से बात की है. लेकिन पिछले 55 दिनों से पीएम मोदी ने मणिपुर की स्थिति को लेकर एक शब्द नहीं कहा है. पूरा देश उनकी ‘मणिपुर की बात’ सुनने की प्रतीक्षा कर रहा है.

खड़गे ने PM मोदी से की ये मांग

  • अगर प्रधानमंत्री मोदी जी सच में मणिपुर के लोगों के बारे में सोचते हैं तो उन्हें सबसे पहले अपने मुख्यमंत्री को बर्खास्त करना चाहिए.
  • चुराए हुए हथियारों को उग्रवादी संगठनों और असामाजिक तत्वों से वापस लिए जाएं.
  • एक साझा राजनीतिक रास्ता निकालने के लिए सभी पक्षों से बातचीत की जाए.
  • सुरक्षा बलों की सहायता से ब्लॉकेड को खत्म किया जाए. इसके साथ ही राष्ट्रीय राजमार्गों को खोलकर आवश्यक वस्तुओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए.
  • हिंसा से प्रभावित लोगों के लिए राहत, पुनर्वास और आजीविका का पैकेज बिना किसी देरी के तैयार किए जाएं. अभी सरकार द्वारा घोषित राहत पैकेज अपर्याप्त हैं.

शनिवार को हुई सर्वदलीय बैठक

इसस पहले शनिवार को मणिपुर हिंसा को लेकर राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सर्वदलीय बैठक हुई. संसद भवन में हुई इस बैठक में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने सभी राजनीतिक पार्टियों को मणिपुर के मौजूदा हालातों के बारे में जानकारी दी. करीब 3 घंटे चली इस मीटिंग में भाजपा, कांग्रेस, टीएमसी, आरजेडी और वाम दलों सहित कई राजनीतिक पार्टियों ने हिस्सा लिया.सर्वदलीय बैठक में समाजवादी पार्टी की ओर से मणिपुर में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की गई. वहीं, मीटिंग खत्म होने के बाद राष्ट्रीय जनता दल के सांसद मनोज झा ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में खुले मन से चर्चा हुई. सभी राजनीतिक दलों ने अपनी बात रखी. मणिपुर के मौजूदा राजनीतिक नेतृत्व को लेकर लोगों में अविश्वास है.

मणिपुर हिंसा को लेकर केंद्र का बड़ा कदम, राज्यपाल की अगुवाई में शांति समिति का हुआ गठन

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन