April 23, 2024
  • होम
  • हिमाचल: अब गेंद कांग्रेस आलाकमान के पाले में… वीरभद्र के बेटे ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा

हिमाचल: अब गेंद कांग्रेस आलाकमान के पाले में… वीरभद्र के बेटे ने मंत्री पद से दिया इस्तीफा

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : February 28, 2024, 11:33 am IST

शिमला: हिमाचल प्रदेश में सुखविंदर सिंह सुक्खू की सरकार पर संकट के बादल छाए हुए हैं. राज्यसभा चुनाव में मंगलवार को 6 कांग्रेसी विधायकों की क्रॉस वोटिंग के बाद आज पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने सुक्खू सरकार से नाराजगी जताते हुए कहा है कि उनका अपमान किया गया है.

विक्रमादित्य सिंह ने क्या कहा?

मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद विक्रमादित्य ने कहा है, मैंने साफ तौर पर कहा है कि मैंने पार्टी आलाकमान को वास्तविक स्थिति से अवगत करा दिया है. अब गेंद पार्टी आलाकमान के पाले में है, उन्होंने यह तय करने के लिए कि भविष्य की कार्रवाई क्या होगी. लेकिन मुझे जो कहना था मैं वह बहुत स्पष्टता से कह चुका हूं. आने वाले वक्त में जो भी होना होगा वह किया जाएगा. मैं पार्टी आलाकमान के साथ उचित चर्चा और विचार-विमर्श कर रहा हूं.

कैसे संकट में है सुक्खू सरकार?

बता दें कि हिमाचल प्रदेश में विधानसभा की 68 सीटें हैं और बहुमत का आंकड़ा 35 है. 2022 में हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को 40 और भारतीय जनता पार्टी को 25 सीटें मिली थीं. वहीं, 3 सीटों पर निर्दलीयों ने जीत दर्ज की थी. अब 6 कांग्रेसी विधायकों की क्रॉस वोटिंग के बाद राज्यसभा चुनाव में भाजपा के उम्मीदवार को जीत मिली है. अगर 6 विधायक पाला बदल लेते हैं तो सुक्खू सरकार के पास 34 सीटें हीं बचेंगी, यानी बहुमत से एक सीट कम. ऐसे में सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार गिर सकती है.

यह भी पढ़ें-

Rajya Sabha Elections Results: राज्यसभा चुनाव में बड़ा उलटफेर, हिमाचल में सिंघवी हारे, कांग्रेस सरकार भी जाएगी

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो