April 14, 2024
  • होम
  • Delhi Excise Case: बीजेपी बोली- 'अरविंद केजरीवाल का अहंकार टूटेगा, AAP के पास सवालों का नहीं है जवाब'

Delhi Excise Case: बीजेपी बोली- 'अरविंद केजरीवाल का अहंकार टूटेगा, AAP के पास सवालों का नहीं है जवाब'

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : August 22, 2022, 1:51 pm IST

Delhi Excise Case:

नई दिल्ली। आबकारी नीति को लेकर दिल्ली में आम आदमी पार्टी और बीजेपी के बीच सियासी जंग थमने का नाम नहीं ले रही है। सीबीआई की छापेमारी को लेकर जहां एक तरफ दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया बीजेपी पर ऑफर देने का आरोप लगा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ बीजेपी भी दिल्ली सरकार पर लगातार हमलावर है। इसी बीच आज भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर जमकर हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि सीएम केजरीवाल का अहंकार जरूर टूटेगा।

AAP के पास सवालों का जवाब नहीं

बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि आम आदमी पार्टी का भ्रष्टाचार और कट्टर बेईमानी उजागर हो रही है। अब ये स्पष्ट हो गया है कि मनीष सिसोदिया और आम आदमी पार्टी के पास किसी भी सवाल का कोई जवाब नहीं है। मनीष सिसोदिया कह रहे हैं कि एक संदेश आया है भाजपा का। लेकिन मैं कहना चाहता हूं कि जिनकी सोच इतनी छोटी है। उसे भला कोई क्यों तोड़ेगा।

केजरीवाल का भांडा फूट चुका है

वहीं, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने आज मीडिया से बात करते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल मॉडल का भांडा फूट चुका है। मोहल्ला क्लिनिक से मोहल्ला ठेका यह अरविंद केजरीवाल मॉडल है। मोहल्ला क्लिनिक में दवा नहीं मिली, मोहल्ला ठेका से घर-घर शराब पहुंचाने का काम हुआ है।

दिल्ली में स्वराज नहीं, शराब राज है

अनुराग ठाकुर ने आगे कहा कि देश में पहली बार हुआ कि जिसके पास शिक्षा विभाग है उसके पास शराब विभाग भी है। अरविंद केजरीवाल सत्येंद्र जैन को ईमानदारी का सर्टिफिकेट बांटते थे। वे तीन महिने से जेल में हैं। अरविंद केजरीवाल जी ने किताब तो स्वराज लिखी लेकिन यह शराब राज लेकर आए।

केजरीवाल सबसे बड़ा भ्रष्टाचारी

बता दें कि इससे पहले रविवार को बीजेपी ने कहा कि आबकारी नीति का ये मुद्दा सिर्फ दिल्ली की जनता का ही नहीं बल्कि पूरे देश की जनता से भी जुड़ा हुआ है। पार्टी ने आरोप लगाते हुए आगे कहा कि देश में अगर कोई भी सबसे बड़ा भ्रष्टाचारी है तो वो अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और उनकी पार्टी आम आदमी पार्टी है। अगर शराब नीति ठीक थी तो उन्होंने इसे वापस क्यों लिया।

बिहार में अपना CM चाहती है भाजपा, नीतीश कैसे करेंगे सियासी भूचाल का सामना

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो