May 21, 2024
  • होम
  • 9 years of Modi Government: विदेश मंत्री जयशंकर बोले- भारत ने 9 साल में 78 देशों में पूरे किए 600 से ज्यादा प्रोजेक्ट

9 years of Modi Government: विदेश मंत्री जयशंकर बोले- भारत ने 9 साल में 78 देशों में पूरे किए 600 से ज्यादा प्रोजेक्ट

नई दिल्ली। केंद्र की सत्ता में नरेंद्र मोदी सरकार के 9 साल पूरे होने के मौके पर आज विदेश मंत्री एस जयशंकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इस दौरान उन्होंने कहा कि पिछले 9 सालों में भारत की विदेश नीति की सफलता को दो तरह से परखा जा सकता है. पहला ये कि दुनिया भारत को किस नजर से देख रही है और दूसरा कि भारतीयों के जीवन पर विदेश नीति का क्या प्रभाव पड़ा है. इसके साथ ही भारतीय विदेश मंत्री ने कहा कि भारत ने पिछले नौ वर्षों में 78 देशों में 600 से ज्यादा प्रोजेक्ट पूरे किए हैं.

दुनिया भारत को भागीदार के रूप में देखती है

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि आज दुनिया विशेष रूप से ग्लोबल साउथ भारत को एक विकास भागीदार के रूप में देखता है. एक ऐसा भागीदार जो विश्वसनीय है और प्रभावी विकास के लिए संकल्पित है. इतना ही नहीं, एक विकास भागीदार जो प्रधानमंत्री द्वारा कही गई बातों पर खरा भी उतरता है. जयशंकर ने कहा कि आज भारत की दूसरी छवि एक आर्थिक सहयोगी की है.

कोविड के दौरान 70 लाख लोगों को वापस लाए

जयशंकर ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान बहुत से देशों ने अपने नागरिकों को उनके हाल पर छोड़ दिया था, लेकिन हम उस दौरान विभिन्न देशों में फंसे हुए कम से कम 70 लाख भारतीयों को वापस लाए. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आज पूरी दुनिया भारत को सुनना चाहती है. लोगों को लगता है कि भारत के साथ काम करने से उनका प्रभाव भी तेज होगा. विदेश मंत्री ने कहा कि हम आज जो प्रभाव डाल रहे हैं, उससे दुनिया में हमारी परंपरा का उत्सव मनाया जा रहा है.

अब भारत किसी के भी बहकावे में नहीं आता है

एस जयशंकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में आगे कहा कि भारत अब किसी के बहकावे में नहीं आता है. अब हम किसी की झूठी बातों और प्रलोभन से प्रभावित नहीं होते हैं. इसके साथ ही विदेश मंत्री ने अपनी प्रेस वार्ता में भारतीय विदेश नीति के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला. उन्होंने कहा कि आज भारत महत्वपूर्ण आर्थिक प्रभाव डाल रहा है, जिसे पूरा विश्व मान्यता दे रहा है.

रूस-यूक्रेन युद्ध को लेकर विदेश मंत्री ने ये कहा

रूस-यूक्रेन युद्ध से भारत-रूस के संबंध पर पड़े प्रभाव पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि रूस यूक्रेन के युद्ध का अलग-अलग देशों पर अलग प्रभाव पड़ा है. अब रूस और चीन या और किसी अन्य देश पर इसका क्या प्रभाव पड़ेगा वह वे खुद ही तय करेंगे. जयशंकर ने कहा कि 1955 के बाद से विश्व में बहुत कुछ हुआ है, लेकिन भारत और रूस का रिश्ता हमेशा स्थिर रहा है, क्योंकि दोनों देश यह समझते हैं कि दोनों बड़े देश है और हमारे रिश्तों पर पूरे यूरेशिया की स्थिरता निर्भर है.

‘देश की राजनीति को बाहर ले जाना गलत’, अमेरिका में राहुल गांधी के बयान पर बोले जयशंकर

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन