May 21, 2024
  • होम
  • Purnea Loksabha: पूर्णिया में यादव VS यादव हुआ मुकाबला, अपनी चाल से पप्पू को चित करेंगे तेजस्वी!

Purnea Loksabha: पूर्णिया में यादव VS यादव हुआ मुकाबला, अपनी चाल से पप्पू को चित करेंगे तेजस्वी!

  • WRITTEN BY: Pooja Thakur
  • LAST UPDATED : April 24, 2024, 9:29 am IST

Loksabha Election 2024: लोकसभा चुनाव को लेकर बिहार की पूर्णिया सीट पर घमासान मचा हुआ है। पूर्णिया सीट पर सियासी माहौल को देखकर लगता है कि यहां पर बीमा भारती और पप्पू यादव के बीच मुकाबला नहीं है बल्कि खुद तेजस्वी यादव मैदान में है। दूसरे चरण के तहत होने वाले चुनाव के प्रचार-प्रसार का आज आखिरी दिन है। 26 अप्रैल को वोटिंग है लेकिन सियासत बेहद गर्म है। .

यादव का यादव के साथ महाभारत

पप्पू यादव के खिलाफ तेजस्वी ने राजद विधायकों की पूरी फ़ौज उतार रखी है। पूर्व डिप्टी सीएम खुद दौरे पर दौरे कर रहे हैं। धुआंधार प्रचार चल रहा है। वो जनता से इंडिया गठबंधन की उम्मीदवार बीमा भारती को जीताने की अपील कर रहे हैं। वहीं पप्पू यादव इसे अपने खिलाफ महाभारत का युद्ध करार दे रहे हैं। पप्पू यादव का कहना है कि तेजस्वी पूर्णिया में महाभारत की पटकथा तैयार कर रहे हैं।

42 विधायकों की RJD ने उतारी फ़ौज

पप्पू यादव का दावा है कि तेजस्वी ने पूर्णिया में राजद के 42 विधायकों के साथ कैंप किया है। बिहार में और भी लोकसभा सीटें हैं लेकिन वहां कुछ नहीं किया जा रहा। अगर पप्पू यादव का यह दावा सही है तो इसका यही अर्थ निकलता है कि तेजस्वी यादव के लिए पूर्णिया की सीट नाक की लड़ाई बन चुकी है।

यादव VS यादव

पप्पू यादव ने तो मीडिया से बात करते हुए ये भी कहा है कि जब इंडिया गठबंधन की लड़ाई NDA के साथ है तो फिर राजद के विधायक उनके खिलाफ साजिश क्यों कर रहे हैं। जब हम 10 साल तक राजद के सांसद रहें तब उन्हें भाजपा की बी टीम नजर नहीं आये लेकिन अब आ रहे हैं। पप्पू यादव और तेजस्वी यादव के बीच छिड़ी जंग के बीच राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि राजद नहीं चाहती कि तेजस्वी के सामने कोई दूसरा बड़ा यादव नेता उभर कर सामने आये।

पूर्णिया में जातीय समीकरण

पूर्णिया सीट पर जातीय समीकरण को देखे तो यहां पर मुस्लिम वोटरों की संख्या सबसे ज्यादा है। 7 लाख मुस्लिम वोटर है, वहीं दूसरे नंबर पर दलित और आदिवासी वोटर हैं। इनकी संख्या 4 लाख के करीब है। यादव वोटरों की संख्या डेढ़ लाख के करीब है। साथ ही अति पिछड़ा, ब्राह्मण और राजपूत वोटरों की संख्या भी डेढ़ लाख के करीब है।

 

Read Also: 

Mathura Lok Sabha Seat: ब्रज की जनता क्या फिर देगी ड्रीम गर्ल को मौका, जानिए समीकरण

Meerut Lok Sabha Election 2024: जानें मेरठ निर्वाचन क्षेत्र के बारे में, जहां इस बार ‘राम’ लड़ रहे हैं चुनाव

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन