डीग में मीट की अवैध दुकानें बंद कराने का आया आदेश, जानें किसने लिया एक्शन?

नई दिल्ली। हाल ही में राजस्थान की हवा महल विधानसभा सीट से जीत हासिल करने वाले BJP प्रत्याशी बालमुकुंदाचार्य (Balmukundacharya) का वीडियो वायरल हुआ था। चुनाव परिणाम आने के अगले ही दिन यानी 4 दिसंबर को बालमुकुंद अपने क्षेत्र में मीट बेचने वालों और नॉनवेज बेचने वाली दुकानों का लाइसेंस पूछ रहे थे। विधायक चुने गए बालमुकुंद वायरल वीडियो में किसी अधिकारी से सवाल-जवाब करते हुए दिखे। वहीं एक पुलिसकर्मी को डांटते हुए भी देखे गए। इस दौरान वह कह रहे थे कि मेरे क्षेत्र में अवैध व्यापार नहीं होने दूंगा। अब खबर आ रही है कि डीग में अवैध मीट की दुकानों को बंद कराने का आधिकारिक आदेश दिया गया है।

अवैध मीट की दुकानें बंद करने का आदेश

डीग जिले में एक स्थान है नगर, यहां की नगर पालिका की तरफ से एक आदेश जारी किया गया है। इसमें कहा गया है कि अवैध मीट की दुकानों को तत्काल प्रभाव से बंद कराया जाए। या फिर अवैध तरीके से मीट बेचने वाले पेनल्टी देकर 7 दिनों के भीतर लाइसेंस के लिए आवेदन दें। अगर कोई दुकानदार यह आवेदन नहीं पेश करता है, तो उसकी दुकान सीज कर दी जाएगी। इसके लिए एक कमिटी गठित की गई है।

किसने लिया एक्शन?

बता दें कि राजस्थान में हुए विधानसभा चुनावों में भाजपा ने जीत दर्ज की है। इस जीत के बाद हवामहल सीट से भाजपा विधायक का मीट की दुकानों को बंद कराने के लिए निकल जाना और फिर डीग में मीट की अवैध दुकानों पर कार्रवाई का आधिकारिक आदेश आना। ऐसे में ये सवाल उठ रहे हैं कि क्या यह सब BJP के आने से शुरू हुआ? हालांकि, नगर पालिका नगर के अधिशासी अधिकारी का जिम्मा संभाल रहे अंकुर जैन ने इस बात से इनकार कर दिया है।

Latest news