महाराष्ट्र: कांग्रेस को एक महीने में लगे तीन झटके, इन नेताओं ने छोड़ा साथ

मुंबई: मिलिंद देवड़ा और बाबा सिद्दकी के बाद अब महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चव्हाण ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया है. वहीं नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा के दौरान महाराष्ट्र में एक महीने में कांग्रेस के तीन नेताओं ने पार्टी का साथ छोड़ा दिया है. तीन नामों में से एक महाराष्ट्र के पूर्व सीएम अशोक चव्हाण ने सोमवार को पार्टी से इस्तीफा दिया है।

जानकारी के अनुसार अशोक चव्हाण पिछले कई दिनों से पार्टी से नाराज थे. अशोक चव्हाण ने नांदेड़ सीट की विधायकी से भी इस्तीफा दे दिया है. ऐसी चर्चा है कि वह भाजपा का दामन थाम सकते हैं. अशोक चव्हाण की तरफ से कांग्रेस से दूरी बनाने के पीछे की वजह सियासी गलियारों में यह बताई गई कि पार्टी नेतृत्व से नाना पटोले को हटाकर खुद को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की उन्होंने बात कही थी. हालांकि कांग्रेस आलाकमान ने उनकी बात नही मानी. यही कारण है कि उन्होंने कांग्रेस से किनारा कर लिया।

आपको बता दें कि महाराष्ट्र में इससे पहले 8 फरवरी को बाबा सिद्दीकी ने इस्तीफा दिया था. इसको लेकर बाबा सिद्दीकी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए कहा था कि मैं एक युवा किशोर के रूप में कांग्रेस में शामिल हुआ और यह 48 वर्षों तक एक महत्वपूर्ण सफर रही है. कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से तत्काल प्रभाव से आज मैं इस्तीफा देता हूं।

इसके अलावा मिलिंद देवड़ा ने भी पिछले महीने ही इस्तीफा दे दिया था. इसको लेकर मिलिंद देवड़ा ने एक्स प्लेटफॉर्म पर लिखा कि आज मेरी राजनीतिक यात्रा के एक महत्वपूर्ण अध्याय का समापन हुआ. उन्होंने आगे लिखा कि मैंने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से अपना त्यागपत्र दे दिया है. पार्टी के साथ मेरे परिवार का 55 साल पुराना रिश्ता समाप्त हुआ।

Farmer’s Protest: किसानों के दिल्ली कूच से पहले टेंशन में सरकार, मोबाइल इंटरनेट बंद

Latest news