Madhya Pradesh: पुलिस ने 7 वर्षीय मासूम बच्ची को अगवा करने वाले गिरोह का किया भंडाफोड़, 24 घंटे के भीतर आरोपियों को दबोचा

भोपाल: मध्य प्रदेश के सीहोर पुलिस ने एक मासूम तस्कर गिरोह को अरेस्ट कर लिया है. इस गिरोह में दो महिलाएं, एक बच्चा सहित 9 सदस्य शामिल हैं. इस गिरोह ने राजस्व मंत्री करण सिंह वर्मा के गृह क्षेत्र से 7 वर्षीय मासूम बच्ची का अपहरण किया था, जिसे 24 घंटे के भीतर ही पुलिस ने 500 किमी दूर शिवपुरी से बरामद कर गिरोह सदस्यों को अरेस्ट कर लिया है. जानकारी के मुताबिक इछावर पुलिस को जानकारी मिली थी कि डुंडलावा गांव में कुछ अज्ञात लोग सफेद रंग की कार में जबरन 7 वर्षीय मासूम बच्ची का अपहरण करके ले गए हैं. सूचना मिलने के बाद ही पुलिस एक्टिव हुई. वहीं एसपी मयंक अवस्थी भी तुरंत ही डुंडलावा गांव पहुंचे और 4 अलग-अलग टीमें बनाकर जांच शुरु करवाई।

वहीं पुलिस ने तकनीकी सहायता से आरोपियों के बारे में जानकारी जुटाई और आखिरकार 500 किमी दूर शिवपुरी से बदमाशों को गिरफ्तार करके उनके कब्जे से 7 वर्षीय मासूम बच्ची को बरामद कर परिजनों को सौंप दिया. वहीं एसपी मयंक अवस्थी ने बताया कि पकड़े गए बदमाशों में से एक आरोपी के खिलाफ मानव तस्करी का मामला पहले ही दर्ज है और सजा भी उसे हो चुकी है. इस गिरोह में दो महिलाएं भी थीं जिससे गांव के लोग पारिवारिक समझकर इन्हें अनदेखा कर जाते थे. उन्होंने बताया कि इस गिरोह के सदस्य घटना स्थल के निकट एक दिन पहले ही रात्रि में रुके थे. वहीं दुसरे दिन डुंडलावा गांव से 7 वर्षीय मासूम बच्ची को पानी देने के बहाने बुलाकर कार में बैठाकर अपहरण कर ले गए थे।

सैनिक को मिला था सुराग

पुलिस जब बच्ची की तलाश कर रही थी तभी इछावर थाना में पदस्थ सैनिक विक्रम सिंह ठाकुर को खबर मिली कि अपहता के परिजनों की ओर से बताए हुए अज्ञात लोग घटना के एक दिन पहले घटना स्थल के आस पास घूम रहे थे, जिसकी तस्दीक के लिए पुरे शहर के सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए और इसमें पुलिस को एक संदिग्ध सफेद रंग की कार शहर से बाहर जाते हुए दिखाई दी. इसकी जांच के लिए एक टीम दोराहा थाना प्रभारी राजेश सिन्हा के नेतृत्व में रवाना की गई।

Farmer’s Protest: किसानों के दिल्ली कूच से पहले टेंशन में सरकार, मोबाइल इंटरनेट बंद

Latest news