April 24, 2024
  • होम
  • Delhi Riots 2020: दिल्ली दंगे केस में गाँधी परिवार और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर को हाईकोर्ट ने भेजा नोटिस

Delhi Riots 2020: दिल्ली दंगे केस में गाँधी परिवार और केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर को हाईकोर्ट ने भेजा नोटिस

  • WRITTEN BY: Aanchal Pandey
  • LAST UPDATED : February 28, 2022, 3:09 pm IST

Delhi Riots 2020:

नई दिल्ली, दिल्ली दंगो (Delhi Riots 2020) को दो साल बीत चुके हैं और ये मामला अब भी कोर्ट में है. इस मामले में दिल्ली हाई कोर्ट ने कई बड़ी राजनीतिक हस्तियों को नोटिस भेजा है. कोर्ट में इन लोगों से पूछा गया है कि क्यों न इस मामले में पक्षकार के रूप में उनपर मुकदमा चलाया जाए. इसी कड़ी में अब हाई कोर्ट ने इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, सांसद राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को नोटिस भेजा है. गांधी परिवार के अलावा दिल्ली हाईकोर्ट ने ऐसा ही नोटिस केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, भाजपा नेता कपिल मिश्रा, भाजपा सांसद परवेश वर्मा को भी भेजा गया है.

हाईकोर्ट ने 4 मार्च तक माँगा जवाब

साल 2020 में हुए दिल्ली दंगों के मामले में हाई कोर्ट ने कई राजनीतिक हस्तियों को नोटिस भेज उन्हें कटघरें में खड़ा कर दिया है. हाल ही में, हाई कोर्ट ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी, सांसद राहुल गाँधी, प्रियंका गाँधी, केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, भाजपा नेता कपिल मिश्रा और भाजपा सांसद परवेश वर्मा को भेजा है. इन सभी लोगों से हाई कोर्ट ने 4 मार्च तक जवाब माँगा है.

बता दें दिल्ली दंगे मामले दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका दायर हुई थी. इसमें दंगे भड़काने में कथित भूमिका के लिए राजनेताओं सहित कई लोगों के खिलाफ FIR दर्ज करने की मांग की गई है, जिसमें भाजपा नेता कपिल मिश्रा का नाम भी शामिल है. पिछली सुनवाई में हाईकोर्ट ने कहा था कि क्या वे वही लोग हैं, जिनके खिलाफ आरोप लगाए गए हैं, क्या वही लोग इस मामले में पक्षकार हैं? क्या कोर्ट वास्तव में उनकी बात सुने बिना उन्हें गिरफ्तार करने वाली याचिका पर आगे बढ़ सकता है.

दिल्ली को दहलाने की थी साजिश

नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में हुए दंगों को दो साल बीत चुके हैं, नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में साल 2020 में 23 फरवरी से 26 फरवरी तक भयंकर दंगे हुए थे. इन दंगों में 53 लोगों की मौत हुई थी जबकि 581 लोग घायल हुए थे. नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में 24 और 25 फरवरी को दंगाइयों ने जमकर उत्पात मचाया था. इन दंगो के मामले में अब तक कुल 755 एफआईआर दर्ज की गई हैं.

 

यह भी पढ़ें:

Russia-Ukraine War : संयुक्त राष्ट्र महासभा की आपात बैठक, रूसी हमले पर होगी चर्चा और वोटिंग

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन