अमृतपाल सिंह की गिरफ्तारी को लेकर भिंडरावाले के भतीजे ने खोले सारे राज, पुलिस को ऐसे मिली थी जानकारी

चंडीगढ़। खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल सिंह ने पंजाब पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है। बता दें, पूरे 36 दिन बाद खालिस्तानी समर्थक अमृतपाल ने पंजाब की मोगा पुलिस के सामने आज सरेंडर किया है। अमृतपाल सिंह को मोगा जिले के रोडे गांव से गिरफ्तार किया गया है। रोडे गांव का खालिस्तानी नेता जरनैल सिंह भिंडरावाले से भी संबंध बताया जाता है। ये भिंडरावाले का पैतृक गांव है। अमृतपाल पिछले एक महीने से पुलिस को चकमा दे रहा था। वह इस दौरान भेष बदलकर खुद को पुलिस की नजरों से बचा रहा था। अब इस बीच भिंडरावाले के भतीजे जसबीर सिंह ने अमृतपाल को लेकर कई बड़े खुलासे किए है।

जसबीर सिंह ने क्या बताया ?

इस बीच जरनैल सिंह भिंडरावाले के भतीजे जसबीर सिंह ने अमृतपाल को लेकर बड़ा खुलासा किया है। बताया जा रहा है कि अमृतपाल शनिवार रात को ही रोडे गांव में पहुंच गया था। इस दौरान उसने जसबीर सिंह को एक मैसेज भी किया था जिसमें उसने रोडे गांव में ही आत्मसमर्पण करने की बात कहीं थी।

जसबीर सिंह ने कहा कि उन्हें पुलिस से एक संदेश मिला था कि अमृतपाल आपके गांव से गिरफ्तारी देना चाहता है। अमृतपाल उनके पास आया और उसने कहा कि वह गुरुद्वारा साहिब में माथा टेकने के बाद संगत को संबोधित करेगा और पिछले एक महीनें से वो कहां था, इसकी भी जानकारी वो लोगों को देगा। अमृतपाल ने कहा था कि वे खुद संगत को बताएगा कि उसने अभी तक गिरफ्तारी ना देने के पीछे क्या कारण था।

अमृतपाल ने संगत का किया धन्यवाद

इसके बाद सुबह उठकर उन्होंने अपनी किट तैयार की चोला बदला और चप्पल डालकर गुरुद्वारा साहिब गया और माथा टेका। इस दौरान उन्होंने संगत का धन्यवाद किया और उन लोगों का भी जिन्होंने उनका साथ दिया था। अमृतपाल ने कहा कि गिरफ्तारी तो कभी भी की जा सकती थी। इसके बाद ठीक सात बजे अमृतपाल बाहर निकला और गिरफ्तारी दी। जसबीर सिंह ने कहा कि अमृतपाल ने अपनी मर्जी से ये गिरफ्तारी दी है। जब जसबीर से पूछा गया कि पुलिस को अमृतपाल के बारे में जानकारी कैसे मिली, तो उनका कहन था कि अपने बारे में शायद अमृतपाल ने ही उन्हें बताया था। क्योंकि हमारी तरफ से पुलिस को कोई जानकारी नहीं दी गई थी।

Latest news

spot_img