April 18, 2024
  • होम
  • वह तीन मैच जिन्होने छीन ली रोहित शर्मा से कप्तानी, हार्दिक के लिए खुल गया रास्ता

वह तीन मैच जिन्होने छीन ली रोहित शर्मा से कप्तानी, हार्दिक के लिए खुल गया रास्ता

नई दिल्ली। टी-20 विश्व कप 2022 में भारतीय टीम का सेमीफाइनल में इंग्लैंड के खिलाफ निराशाजनक प्रदर्शन ही मात्र रोहित की कप्तानी पर गाज गिराने के लिए ही काफी नहीं था बल्कि दो ऐसे अन्य मैच जिनके ऊपर टीम मैनेजमेंट सहित समस्त भारत की नज़रें थीं। जहाँ एक ओर रोहित शर्मा को टी-20 मुकाबलों के लेकर अनफिट बताया जा रहा है, वहीं बतौर कप्तान उनके रिएक्शन्स भी मैनेजमेंट से लेकर भारतीय क्रिकेट टीम को पसन्द नहीं आ रहे हैं।

कौन से मैच बने वजह?

विश्व कप सेमीफाइनल में इंग्लैंड द्वारा परास्त किए जाने के बाद रोहित की सेना पर लगातार उंगलियां उठ रहीं थीं फलस्वरूप न्यूज़ीलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज की कमान हार्दिक पांड्या के हाथों में सौंप दी गयी। क्या केवल इंग्लैंड से हार के बाद ही रोहित की कप्तानी में गाज गिरी तो जवाब है नहीं।
एशिया कप का दौर अभी तक क्रिकेट प्रेमियों के ज़हन से धुंधला नहीं हुआ होगा जहाँ भारतीय टीम ने पाकिस्तान को परास्त कर एशिया कप मे धमाकेदार एंट्री की थी। वहीं सीरीज के अंत तक पहुंचने से पहले ही भारतीय टीम को पाकिस्तान ने परास्त किया वहीं श्री लंका से भी हार कर भारत ने फाइनल में पहुंचने के बाद सारी उम्मीदें खो दीं।
भारतीय टीम के समर्थकों के लिए केवल यही काफी नहीं है कि,पाकिस्तान फाइनल नहीं जीत पाया बल्कि अपनी टीम के ताबड़तोड़ प्रदर्शन द्वारा फाइनल उठाने की चाह भी समर्थकों के भीतर घर किए होती है। लेकिन भारतीय टीम न सिर्फ एशिया कप मे इस उम्मीद को कायम रखने में नाकाम हुई बल्कि टी-20 विश्व कप 2022 में भी एशिया कप की यादें भारतीय टीम ने दोहराते हुए समर्थकों को फिर निराश किया।
धोनी से तुलना किए जाने वाले मिस्टर कूल दोनों की श्रृंखलाओं में बेबस एवं मैदान में गुस्से में नज़र आए कभी तो वह प्लेयर को डांटते हुए दिखे कभी वह गेंद पर किक मारते हुए देखे जा रहे थे। एशिया कप मे पाकिस्तान और श्री लंका से हार और तीसरा मैच विश्व कप में इंग्लैंड से हार के रूप में देखने को मिला जिसके चलते रोहित शर्मा को कप्तानी से हाथ धोना पड़ा।

हार्दिक को क्यों मिला मौका?

हार्दिक पांड्या ने जहां आईपीएल में मुंबई इंडियन के लिए धमाकेदार बल्लेबाजी से अपना जौहर दिखाया वहीं मुंबई इंडियन्स की अनेकों जीत में महत्वपूर्ण भूमिका भी निभाई।
हार्दिक के लिए टर्निंग प्वाइंट बना गुजरात का नेतृत्व करना उन्होने आईपीएल में पहली बार उतरी गुजरात को अपने नेतृत्व में न सिर्फ ट्रॉफी जितवाई, बल्कि अपने नेतृत्व का लोहा भी मनवाया। आईपीएल के इस सीजन के बाद हार्दिक चयनकर्ताओं एवं मैनेजमेंट की नज़रों में चढ़ गए जिसके चलते न्यूज़ीलैंड के दौरे में उन्हे एक बार फिर कप्तानी सौंपी गई है। इससे पहले आयरलैंड के खिलाफ भी कप्तानी करते हुए हार्दिक ने 2-0 के अन्तर से जीत दर्ज करवाई थी।

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो