फीफा विश्व कप- कतर के नाम दर्ज हुआ शर्मनाक रिकॉर्ड. 92 सालों में ऐसा हुआ है पहली बार

नई दिल्ली। फीफा विश्व कप की मेजबानी कर रहे कतर के साथ ऐसी शर्मनाक घटना घटित हो गई है कि, विश्व कप की मेजबानी करने वाला कोई भी देश यह नहीं चाहेगा कि, उसके साथ इस तरह की घटना घटित हो सेनेगल के हाथों मिलने वाली पराजय के बाद विश्व कप से कतर को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया है इसके साथ ही कतर द्वारा एक शर्मनाक रिकॉर्ड भी बना दिया गया है।

क्या है पूरा मामला?

खाड़ी देश कतर की मेजबानी में आयोजित किए गए फीफा विश्व कप में कतर ने एक शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज करवाया है। सेनेगल के हाथों लगातार दूसरी पराजय मिलने एवं इक्वाडोर तथा नीदरलैंड का मैच ड्रॉ रहने के बाद मेजबान कतर पहली ही हफ्ते में विश्व कर के ग्रुप चरण से बाहर हो गया है। कतर के द्वारा रक्षण में हुई चूक का सेनेगल ने पूरा फायदा उठाया और गोल दाग कर शुक्रवार में खेले गए मुकाबले को 3-1 से जीत लिया है।

अफ्रीका के साथ भी ऐसी ही हुआ था

फीफा विश्व कप 2010 की मेजबान दक्षिण अफ्रीका भी ग्रुप चरण से बाहर होने वाली अकेली मेजबान टीम थी, लेकिन दक्षिण अफ्रीका ने तीन मैचों के राउंड मे एक मैच मे जीत दर्ज की थी। कतर ने पहली बार फीफा विश्व की मेजबानी की थी और उसमे 220 अरब डॉलर भी खर्च किए थे। लेकिन उनकी टीम का ख़राब प्रदर्शन शायद कतर के लोगों के लिए बर्दाश्त करने योग्य नहीं होगा।

क्या गलती की कतर ने?

खेल विशेषज्ञों का कहना है कि, कतर के रक्षण में कमी का फायदा सेनेगल ने उठाया पहले ही मैच मे डच टीम से हारी सेनेगल ने अपने इस अभियान की जीत की ओर मोड़ दिया, स्ट्राइकर बुलाये डिया ने कतर के डिफेंडर बुआलेम खाउखी की गलती का फायदा उठाकर पहला गोल कर दिया। फमारा डी ने दूसरे हाफ की शुरुआत मे टीम की दोगुनी बढ़त दिला दी। कतर के मोहम्मद मुंतारी ने एक गोल दागा लेकिन छह मिनट बाद ही बाम्बा डिऐंग ने गोल करके सेनेगल को 3-1 से बढ़त दिला दी।

Latest news