June 17, 2024
  • होम
  • Shani Dev : बनी रहेगी शनिदेव की कृपा, तो करें इन उपायों को बनेगी तरक्की के योग

Shani Dev : बनी रहेगी शनिदेव की कृपा, तो करें इन उपायों को बनेगी तरक्की के योग

नई दिल्ली: शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार का दिन शुभ माना जाता है. ज्योतिष में इन्हें न्याय का देवता कहा जाता है. ये व्यक्ति को उसके कर्मों के आधार पर परिणाम देते है. ऐसा माना जाता है कि जिस किसी पर शनिदेव की कृपा हो जाती है उसके जीवन में तरक्की के योग बनते हैं. इसके अलावा रुके हुए काम भी गति मिलती हैं. शनिदेव कुंभ और मकर राशि के स्वामी हैं. इन राशि के लोगों पर उनकी विशेष कृपा है.

यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में शनि ग्रह प्रमुख भूमिका निभाता है तो उसे कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है. साथ ही उसके जीवन में कई तरह की परेशानियां भी बनी रहती हैं. इसलिए शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार के दिन दान-दक्षिणा जैसे कार्य करने की सलाह दी जाती है. शनि दोष कुंडली के अनुसार इससे आपको राहत मिलेगी.

also read

Smartphone: अगर आपके हाथ से फ़ोन छूट जाता है, तो लगाए इन सेफ्टी स्क्रीन गार्ड को

शनिवार के दिन करें ये उपाय

1. शनिवार के दिन आप सूर्योदय से पहले पीपल के पेड़ की पूजा करें, इस दौरान जल भी अर्पित करें. साथ ही तेल का दीपक जलाएं। माना जाता है कि ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं.
2. शनिवार के दिन दान करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं. इस दिन आप काला तिल, काला छाता, सरसों का तेल, काली उड़द का दान कर सकते हैं, ऐसा करने से आपकी समस्याएं कम होती हैं.
3. शनिदेव की कृपा प्राप्त करने के लिए आप शनिवार के दिन व्रत रख सकते हैं, गरीब लोगों की मदद करें. इससे आपके संकट दूर होने लगते हैं.
4. शनिवार को शनिदेव की पूजा करने से उनकी कृपा प्राप्त होती है. आप इस दौरान लोहे के दीपक में सरसों का तेल डालकर जलाएं, ऐसा करने से दुर्घटना से बचाव होता है.
5. शनिवार के दिन सूर्यास्त होने के बाद हनुमान चालीसा या सुंदरकांड का पाठ करें. ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं, आपके संकट भी दूर हो सकते हैं.

शनिदेव के मुख्या मंत्र

1. शनि गायत्री मंत्र
ॐ शनैश्चराय विदमहे छायापुत्राय धीमहि ।

2. शनि बीज मंत्र
ॐ प्रां प्रीं प्रों स: शनैश्चराय नमः ।।

3. शनि स्तोत्र
ॐ नीलांजन समाभासं रवि पुत्रं यमाग्रजम ।
छायामार्तंड संभूतं तं नमामि शनैश्चरम ।।

4. शनि पीड़ाहर स्तोत्र
सुर्यपुत्रो दीर्घदेहो विशालाक्ष: शिवप्रिय: ।
दीर्घचार: प्रसन्नात्मा पीडां हरतु मे शनि: ।।
तन्नो मंद: प्रचोदयात ।।

5. शनिदेव को प्रसन्न करने वाले सरल मंत्र
“ॐ शं शनैश्चराय नमः”
“ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः”
“ॐ शन्नो देविर्भिष्ठयः आपो भवन्तु पीतये। सय्योंरभीस्रवन्तुनः।।

also read

Power Cut in Uttarakhand: गर्मी के बीच बिजली कटौती ने किया लोगों को बेहाल, बढ़ीं ऊर्जा निगम की मुश्किलें

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन