April 24, 2024
  • होम
  • चीन में बढ़ते COVID मामलों पर WHO ने जताई चिंता , कहा- हमारे साथ काम करें चीनी वैज्ञानिक

चीन में बढ़ते COVID मामलों पर WHO ने जताई चिंता , कहा- हमारे साथ काम करें चीनी वैज्ञानिक

  • WRITTEN BY: Tamanna Sharma
  • LAST UPDATED : December 31, 2022, 10:16 am IST

नई दिल्ली। चीन में बढ़ते कोरोना के गंभीर हालात को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन चिंता जताई है। बता दें , WHO की ओर से बताया गया है कि चीन की स्वास्थ्य सेवा प्रणाली को सहायता प्रदान की जाएगी। वहीं दूसरी तरफ , कोरोना वायरस को कम करने और उच्च जोखिम वाले लोगों के टीकाकरण के लिए चीनी सरकार को प्रोत्साहित किया जा रहा है । हाल ही WHO के महानिदेशक टेड्रोस अदनोम घेब्रेयसस ने चीनी अधिकारियों से मुलाकात की और फिर से चीन में कोरोना महामारी की स्थिति के रियल टाइम डेटा की मांग की है।

WHO की वेबसाइट पर जारी बयान के मुताबिक, विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टेड्रोस अदनोम घेब्रेसियस की बैठक में, इन्होने ने चीन से जेनेटिक सीक्वेंसिंग, अस्पताल और ICU में मरीजों की भर्ती और बढ़ते बीमारी के प्रभाव और विशेष रूप से कमजोर लोगो और 60 वर्ष से अधिक आयु के लोगों के टीकाकरण पर डेटा मांगा है।

यात्रा पाबंदियों पर भी चिंता

बता दें , इससे पहले WHO के महानिदेशक ने गुरुवार को बताया था कि चीन में कोरोना नियमों में ढील देने के बाद चिंताजनक स्थिति पैदा हो गई है और इसका जल्द ही निवारण करना होगा। जानकारी के मुताबिक , उन्‍होंने विभिन्न देशों की ओर से चीन पर यात्रा पाबंदियों को लेकर भी अपनी राय प्रकट की थी।
WHO के महानिदेशक ने ट्ववीट कर लिखा था , ”हम चीन के हालात के बारे में चिंता है और चीन को कोरोना वायरस को ठीक करने और उच्चतम जोखिम वाले लोगों को टीका लगाने के लिए प्रोत्साहित करना जारी रखा हुआ है , हम चीन की स्वास्थ्य प्रणाली को मदद जारी रखेंगे.”

चीन में बढ़ा कोरोना का प्रकोप

जानकारी के मुताबिक , इसी साल चीन में कोरोना वायरस का प्रकोप फिर से तब बढ़ा था , जब यहां कोरोना नियमों में ढील दे दी गई थी। बता दें , बड़े शहरों में मरीजों की संख्‍या बढ़ने लगी थी तो 24 नवंबर से बीजिंग और शंघाई सहित चीन के कई प्रमुख शहरों में सख्‍त प्रतिबंध लगा दिए गए थे। इन सब के बाद कुछ चीनी शहर, शंघाई, बीजिंग, ग्वांगझू और वुहान में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन भी हुए थे। रिपोर्ट के मुताबिक, प्रदर्शनकारियों ने लॉकडाउन को तत्काल हटाने और नियमित PCR टेस्‍ट को समाप्त करने और कोरोना प्रतिबंधों में ढील देने की प्रशासन से मांग की थी। जिसके बाद ही चीनी सरकार ने कोरोना प्रतिबंधों में छूट दे दी थी। लेकिन , चीनी सरकार तेजी से फैल रहे कोरोना संक्रमण को काबू नहीं कर पाई थी।

Ramiz Raja: पूर्व पीसीबी अध्यक्ष रमीज राजा का बड़ा बयान- ‘भारत से बर्दाश्त नहीं हुआ….’

IND vs SL: भारत में पहली बार खेलेगा ये खिलाड़ी, डर में है पूरी श्रीलंकाई टीम

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन