June 16, 2024
  • होम
  • 'हमने भी जून में तोड़ी थी एक मजबूत दही हांडी'- जन्माष्टमी पर उद्धव ठाकरे पर CM एकनाथ शिंदे का तंज

'हमने भी जून में तोड़ी थी एक मजबूत दही हांडी'- जन्माष्टमी पर उद्धव ठाकरे पर CM एकनाथ शिंदे का तंज

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : August 19, 2022, 9:57 pm IST

जन्माष्टमी:

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने आज कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर ठाणे के तेम्बी नाका में दही हांडी कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस दौरान उन्होंने शिवसेना नेतृत्व के खिलाफ अपने विद्रोह का जिक्र करते हुए कहा कि जून के महीने में उन्होंने भी अपने समर्थकों के साथ एक बहुत मजबूत दही हांडी को तोड़ा था।

बता दें कि शिंदे ने जून में शिवसेना के कई विधायकों के साथ पार्टी से बगावत कर दी थी। जिसके बाद उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाविकास अघाड़ी सरकार गिर गई थी।

मजबूत दही हांडी को तोड़ा था

एकनाथ शिंदे ने उद्धव ठाकरे से बगावत के बाद बीजेपी के साथ मिलकर महाराष्ट्र में नई सरकार का गठन किया था और 30 जून को मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली थी। दही हांडी कार्यक्रम में सीएम शिंदे ने कहा कि आप अब दही हांडी तोड़ रहे हैं। हमने डेढ़ महीने पहले ही एक बहुत मजबूत दही हांडी को तोड़ा था। ये बहुत कठिन, ऊंची थी और इसे तोड़ने के लिए हमें 50 बेहद मजबूत परतें लगानी पड़ीं, लेकिन आखिरी में हम सफल रहे।

बालासाहेब का सपना पूरा किया है

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने आगे कहा कि शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे चाहते थे कि एक दिन शिवसेना पार्टी का एक कार्यकर्ता महाराष्ट्र का सीएम बने। वहीं दिवंगत आनंद दीघे चाहते थे कि ठाणे से एक शिवसैनिक ये शीर्ष पद प्राप्त करे। अब बाला साहेब और आनंद दिघे की इच्छा पूरी हो गई है। बता दें कि 1990 के दशक में ठाणे में शिवसेना का प्रमुख चेहरा रहे आनंद दिघे को सीएम एकनाथ शिंदे का गुरु माना जाता है।

महाराष्ट्र में लोकप्रिय है जन्माष्टमी

गौरतलब है कि जन्माष्टमी के त्योहार पर दही हांडी का आयोजन किया जाता है। जहां गोविंदा की मंडली लोगों का एक पिरामिड बनाकर एक-दूसरे के साथ होड़ करती है और ऊपर बंधे हुए दही या छाछ के मिट्टी के बर्तन को तोड़ती है। महाराष्ट्र में कृष्ण जन्माष्टमी का उत्सव बेहद लोकप्रिय है। मुंबई और ठाणे जैसे शहरों में बड़े पैमाने पर दही हांडी का आयोजन किया जाता है।

बिहार में अपना CM चाहती है भाजपा, नीतीश कैसे करेंगे सियासी भूचाल का सामना

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन