Wednesday, February 1, 2023
spot_img

उपराष्ट्रपति चुनाव: पीएम मोदी ने सबसे पहले डाला वोट, संसद भवन में मतदान के लिए सांसदों की लंबी कतारें

उपराष्ट्रपति चुनाव:

नई दिल्ली। देश के अगले उपराष्ट्रपति के लिए संसद भवन परिसर में वोटिंग शुरू हो गई है। प्रधानंमत्री मोदी ने सबसे पहले संसद पहुंचकर मतदान किया है। संसद परिसर में इस वक्त मतदान के लिए सांसदों की लंबी कतारें लगी हुई है। राज्यसभा और लोकसभा के सांसद नए उपराष्ट्रपति के चुनाव की प्रक्रिया में हिस्सा ले रहे हैं।

शाम 5 बजे तक होगा मतदान

उपराष्ट्रपति चुनाव के लिए मतदान सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक होगा। इसके बाद आज शाम को ही नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे। बता दें कि उपराष्ट्रपति पद के लिए एनडीए की ओर से पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल जगदीप धनखड़ और विपक्ष की ओर से मार्गर्रेट अल्वा उम्मीदवार हैं।

जगदीप धनखड़ की जीत तय

एनडीए उम्मीदवार जगदीप धनखड़ की इस चुनाव में जीत तय मानी जा रही है। संसद के निचले सदन लोकसभा में बीजेपी के पास कुल 303 हैं, बताया जा रहा है कि सांसद संजय धोत्रे तबीयत ठीक ना होने के चलते मतदान नहीं कर पाएंगे। इस तरह एनडीए गठबंधन के पास लोकसभा में कुल 336 सदस्य हैं। वहीं राज्यसभा में भारतीय जनता पार्टी के पास 91 (4 नॉमिनेटेड सहित) सदस्य हैं और एनडीए के पास कुल 109 सदस्य हैं। ऐसे में अब एनडीए के पास संसद के दोनों सदनों में कुल 445 सदस्य हैं।

अल्वा को मिल सकते है इतने वोट

माना जा रहा है कि उपराष्ट्रपति चुनाव में जगदीप धनखड़ को 515 के करीब मत मिलेगा। वहीं विपक्ष की उम्मीदवार मार्गेट अल्वा को अब तक मिले पार्टियों के समर्थन को देखते हुए अनुमान जताया जा रहा है कि उन्हें 200 के करीब वोट मिल सकते हैं।

एनडीए उम्मीदवार

जगदीप धनखड़ को एनडीए में शामिल दलों के अलावा भी कई पार्टियों ने समर्थन दिया है। राष्ट्रपति चुनाव में द्रौपदी मुर्मू को समर्थन देने वाली बसपा ने इस चुनाव में भी एनडीए उम्मीदवार को समर्थन देने का ऐलान किया है।

धनखड़ को इन पार्टियों ने समर्थन दिया है-

वाईएसआरसीपी,
बीएसपी,
टीडीपी,
बीजेडी,
अन्नाद्रमुक,
शिवसेना (शिंदे गुट)

निर्वाचक मंडल अंकगणित के अनुसार, जगदीप धनखड़ के पक्ष में दो-तिहाई मत हैं। माना जा रहा है कि धनखड़ का देश का अगला उपराष्ट्रपति बनना तय है। समर्थन को देखते हुए धनखड़ को 515 के करीब मत मिलने की संभावना जताई जा रही है।

विपक्षी उम्मीदवार

मार्गेट अल्वा को यूपीए गठबंधन में शामिल दलों के अलावा कई और विपक्षी पार्टियों ने समर्थन दिया है। राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार को समर्थन देने वाली झारखंड मुक्ति मोर्चा ने इस चुनाव में विपक्षी उम्मीदवार का साथ देने का फैसला किया है।

अल्वा को इन पार्टियों ने समर्थन दिया है-

तेलंगाना राष्ट्र समिति
आम आदमी पार्टी
झारखंड मुक्ति मोर्चा
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन

विपक्ष की उम्मीदवार मार्गेट अल्वा को अब तक मिले पार्टियों के समर्थन को देखते हुए अनुमान जताया जा रहा है कि उन्हें 200 के करीब वोट मिल सकते हैं।

Vice President Election 2022: जगदीप धनखड़ बनेंगे देश के अगले उपराष्ट्रपति? जानिए क्या कहते हैं सियासी समीकरण

Latest news