April 14, 2024
  • होम
  • 'यह 1962 का भारत नहीं', अरुणाचल प्रदेश पर चीन को किरण रिजिजू की दो टूक

'यह 1962 का भारत नहीं', अरुणाचल प्रदेश पर चीन को किरण रिजिजू की दो टूक

  • WRITTEN BY: Arpit Shukla
  • LAST UPDATED : April 3, 2024, 10:44 am IST

नई दिल्ली। पड़ोसी देश चीन भारत की बढ़ती ताकत से छटपटा रहा है। बता दें कि चीन ने अरुणाचल में कई इलाकों का नाम बदलने का दावा किया। जिसके बाद भारत की ओर से चीन को मुंहतोड़ जवाब मिला है। केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने दो टूक कहा कि चीन के निराधार दावों से जमीनी हकीकत नहीं बदलने वाली है।

चीन को रिजिजू का जवाब

रिजिजू ने कहा कि मैं अरुणाचल प्रदेश के अंदर 30 जगहों को चीन द्वारा अवैध रूप से दिए गए ‘मानकीकृत’ भौगोलिक नामों की निंदा करता हूं। उन्होंने कहा कि चीन निराधार दावे करता रहा है लेकिन इससे जमीनी हकीकत तथा ‘ऐतिहासिक तथ्य’ नहीं बदलने वाली है। अरुणाचल प्रदेश भारत का अभिन्न हिस्सा है तथा अरुणाचल प्रदेश के लोग सभी मानकों और परिभाषाओं के मुताबिक सर्वोच्च भारतीय देशभक्त हैं।

चीन को हो रही घबराहट

किरण रिजिजू ने आगे कहा कि अरुणाचल प्रदेश में सीमाई क्षेत्र में हो रहे भारतीय विकास से चीन को घबराहट हो रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के शासन में सीमा पर काम नहीं होता था। मोदी जी ने आकर कांग्रेस की नीति पलट दी और अब अरुणाचल प्रदेश में विकास हो रहा है। वहां एयरपोर्ट बना रहा है, पीने का पानी, बिजली, 4 जी नेटवर्क सब पहुंच रहा है। उन्होने कहा कि चीन को समझ जाना चाहिए कि ये 1962 वाला नहीं नया भारत है।

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो