Shivsena vs Shivsena: मुंबई में आज उद्धव और शिंदे गुट का शक्ति प्रदर्शन, जानें दशहरा को ही क्यों रैली करती है ‘शिवसेना’

मुंबई: महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में आज शिवसेना के दोनों गुट शक्ति प्रदर्शन करने वाले हैं. जहां शिवाजी पार्क में उद्धव ठाकरे गुट की दशहरा रैली होगी, वहीं आजाद मैदान में एकनाथ शिंदे गुट की शिवसेना रैली करेगी. इस रैली के जरिए दोनों गुट अपने समर्थकों को संदेश देंगे. आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देनजर इस रैली को दोनों खेमों के लिए काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

उद्धव और शिंदे ने समर्थकों से की अपील

बता दें कि उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपने-अपने समर्थकों से दशहरा रैली में शामिल होने की अपील की है. उद्धव गुट ने सोमवार को सोशल मीडिया पर एक वीडियो जारी किया, जिसमें शिवसेना के अब तक के सफर को दिखाया गया है. उद्धव की पार्टी ने इससे खुद को असली शिवसेना के तौर पर दिखाने की कोशिश की है. वहीं दूसरी ओर एकनाथ शिंदे खेमे की ओर से भी अपील जारी हुई है. सीएम एकनाथ शिंदे ने सोशल मीडिया पर लिखा है, हमने कुछ साल पहले एक बड़ा फैसला किया था कि हम बाला साहेब ठाकरे के विचारों को आगे बढ़ाएंगे. कल (मंगलवार) को आजाद मैदान से शिवसैनिकों के मुख से एक बार फिर वही दहाड़ सुनने को मिलेगी. इस बार दशहरा रैली में पूर्व मंत्री विजयबापू शिवतारे और पार्टी के मेरे सभी प्रमुख साथी मौजूद रहेंगे.

दशहरे को ही क्यों होती है शिवसेना की रैली?

गौरतलब है कि दशहरा महाराष्ट्र के प्रमुख त्योहारों में से एक है. ये पूरे राज्य में बहुत धूमधाम से मनाया जाता है. साल 2011 की जनगणना के मुताबिक, महाराष्ट्र की 80 फीसदी के करीब आबादी हिंदू धर्म को मानने वालों की है. हिंदुओ में दशहरा बड़ा पर्व माना जाता है. यही वजह है कि बीते 60 सालों से शिवसेना दशहरे के मौके पर बड़ी रैली आयोजित करती आई है. पार्टी में दो फाड़ होने के बाद दोनों खेमे हिंदू मतदाताओं को अपनी ओर आकर्षित करने की कोशिश कर रहे हैं. आज होने वाली रैली के जरिए दोनों गुट शिवसेना के कोर हिंदू वोटर को अपनी ओर खींचने की कोशिश करेंगे.

यह भी पढ़ें-

तानाशाही के खिलाफ एक साथ मिलकर लड़ेंगे… विपक्षी महाबैठक में बोले उद्धव ठाकरे

Latest news