May 21, 2024
  • होम
  • संजीव जीवा हत्याकांडः लखनऊ कोर्ट पहुंची SIT, घटनास्थल पर रीक्रिएट किया क्राइम सीन

संजीव जीवा हत्याकांडः लखनऊ कोर्ट पहुंची SIT, घटनास्थल पर रीक्रिएट किया क्राइम सीन

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : June 10, 2023, 8:09 am IST

लखनऊ। गैंगस्टर संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा हत्याकांड मामले में स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) जांच में जुट गई है. इस बीच शुक्रवार को एसआईटी लखनऊ कोर्ट पहुंची और घटनास्थल पर क्राइम सीन को दोहराया. बताया जा रहा है कि करीब दो घंटे तक यह कार्रवाई चली. इस दौरान जांच टीम ने समझा कि किस तरह से हमलावर आया. इसके बाद उसने वारदात को अंजाम दिया और फिर पकड़ा गया. इसके साथ ही फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल से सबूत भी जुटाए. उधर, ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर कानून व्यवस्था ने इस मामले की विवेचना के लिए स्पेशल टीम का गठन कर दिया है.

बुधवार को हुई थी संजीव जीवा की हत्या

इससे पहले बुधवार को माफिया मुख्तार अंसारी के करीबी शूटर संजीव माहेश्वरी उर्फ जीवा की लखनऊ कोर्ट परिसर में गोली मारकर हत्या कर दी गई. वकील की ड्रेस में आए हमलवार ने कोर्ट परिसर में सबके सामने जीवा को गोलियों से भून दिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई. बताया जा रहा है कि जीवा की हत्या के लिए प्लान ‘बी’ भी तैयार था. कोर्ट परिसर में एक से ज्यादा शूटर मौजूद थे. संजीव माहेश्वरी पर गोली बरसाने वाला विजय यादव वहां अकेले नहीं था, उसके साथी भी वहां मौजूद थे. अगर संजीव जीवा कोर्ट से भागने की कोशिश करता तो दूसरा साथी उस पर गोली चला देता.

मां और बच्ची के साथ दो सिपाही घायल

इस घटना में एक बच्ची, उसकी मां और दो सिपाही भी घायल हो गए. हत्याकांड को अंजाम देने के बाद भीड़ का फायदा उठाकर भाग रहे आरोपी विजय यादव को वकीलों ने पकड़ लिया, हालांकि तीन अन्य शूटर फरार होने में कामयाब हो गए. पकड़े गए आरोपी की वकीलों ने खूब पिटाई भी की. गोलीबारी में घायल हुए एक सिपाही ने बताया कि जैसे ही हम लोग कोर्ट के पास पहुंचे वैसे ही हमलावर ने गोली चलाना शुरू कर दिया. सिपाही ने कहा कि हमले के दौरान मैं सबसे आगे खड़ा था, जिस कारण मेरे पैर में भी गोली लगी. कोई कुछ समझ पाता उससे पहले ही वकील की ड्रेस में आए हमलावर ने गेट पर संजीव जीवा को गोली मार दी.

वकीलों ने लगाया लापरवाही का आरोप

बता दें कि, कोर्ट में संजीव जीवा की हत्या के बाद वकीलों ने पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए, कोर्ट परिसर के बाहर जमकर प्रदर्शन किया. इस दौरान कुछ वकीलों ने पथराव भी कर दिया था, जिसमें मौके पर मौजूद एसपी चौकी सुनील कुमार घायल हो गए. विरोध प्रदर्शन के दौरान वकीलों और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की भी देखने को मिली. गौरतलब है कि इस हत्या ने 2021 में दिल्ली के रोहिणी कोर्ट परिसर हुई हत्याकांड की यादें ताजा कर दी. 2021 में रोहिणी कोर्ट में जिस तरह गैंगस्टर जितेंद्र गोगी की हत्या हुई थी ठीक वैसे ही लखनऊ में संजीव जीवा की गोली मारकर हत्या की गई.

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन