May 21, 2024
  • होम
  • RBI: RBI की बैंकों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी, अब कोटक महिंद्रा बैंक पर लगाई ये रोक

RBI: RBI की बैंकों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी, अब कोटक महिंद्रा बैंक पर लगाई ये रोक

  • WRITTEN BY: Mohd Waseeque
  • LAST UPDATED : April 24, 2024, 5:41 pm IST

नई दिल्ली: देश के लोगों के सेंसिटिव डेटा सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने कोटक महिंद्रा बैंक (Kotak Mahindra Bank) को तत्काल प्रभाव से आनलाइन नए कस्मटमर जोड़ने और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने पर पाबंदी लगा दी है. हालांकि, RBI के इस फैसले के बाद बैंक अपने ग्राहकों को सेवा देना जारी रख पायेगा, RBI के इस फैसले में क्रेडिट कार्ड धारक भी शामिल हैं.

आनलाइन कस्टमर जोड़ने पर लगी पाबंदी

केंद्रीय बैंक ने अपनी एक प्रेस रिलीज में कहा कि, “भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बैंकिंग विनियमन अधिनियम 1949 की धारा 35ए के तहत अपनी शक्तियों का इस्तेमाल करते हुए कोटक महिंद्रा बैंक लिमिटेड को तत्काल प्रभाव से अपने ऑनलाइन और मोबाइल बैंकिंग चैनलों के माध्यम से नए ग्राहकों को जोड़ने और नए क्रेडिट कार्ड जारी करने पर काम बंद करने का आदेश दिया है., हालांकि, बैंक अपने पहले से जारी क्रेडिट कार्ड ग्राहकों सहित अपने मौजूदा ग्राहकों को सेवाएं प्रदान करना जारी रख सकेगा.

आईटी इन्वेंट्री के प्रबंधन में हैं खामियां

RBI ने कहा कि यह कार्रवाई वर्ष 2022 और 2023 के लिए भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की आईटी जांच में पता चले महत्वपूर्ण कमियों और ग्राहकों की चिंताओं और इन चिंताओं को व्यापक और समयबद्ध तरीके से संबोधित करने में बैंक की ओर से लगातार विफल होने के बाद की गई है. . RBI की तरफ से कहा गया है कि कोटक महिंद्रा बैंक जिस तरह से अपनी आईटी इन्वेंट्री का प्रबंधन करता है और अपने डेटा को सुरक्षित करता है, उसमें “गंभीर खामियां थीं.

नियमों के मुताबिक की गई है कार्रवाई

RBI ने मामले को लेकर कहा कि, “आईटी इन्वेंट्री प्रबंधन, पैच और परिवर्तन प्रबंधन, उपयोगकर्ता पहुंच प्रबंधन, विक्रेता जोखिम प्रबंधन, डेटा सुरक्षा, डेटा रिसाव रोकथाम रणनीति, व्यापार निरंतरता, आपदा वसूली कठोरता और ड्रिल आदि के क्षेत्रों में गंभीर कमियां और गैर-अनुपालन देखे गए हैं. RBI ने कहा कि, “लगातार दो वर्षों में बैंक के आईटी जोखिम और सूचना सुरक्षा प्रशासन में कमी का आकलन हमारे द्वारा किया गया, जो नियामक दिशानिर्देशों के तहत आवश्यकताओं के विपरीत है.”

ये भी पढ़ें- RBI Foundation Day: कैसे और क्यों हुई थी आरबीआई की स्थापना, जानें पूरी कहानी.

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन