April 16, 2024
  • होम
  • राजीव गांधी के हत्यारे की हार्ट अटैक से मौत, अस्पताल में था भर्ती

राजीव गांधी के हत्यारे की हार्ट अटैक से मौत, अस्पताल में था भर्ती

नई दिल्ली: भारत के इतिहास में सबसे कम उम्र के प्रधानमंत्री कांग्रेस पार्टी से राजीव गांधी बने थे. वह 40 वर्ष के उम्र में भारत का प्रधानमंत्री बन गए थे. उस समय दुनिया के युवा नेताओं में से एक थे. राजीव गांधी का हत्या 21 मार्च 1991 में चुनाव प्रचार के दौरान तमिलनाडु में बम विस्फोट से हुई थी. इस घटना का साजिश लिट्टे ने रची थी और इस हत्या का उसने जिम्मेदारी भी ली थी. लिट्टे ने भारतीय सैनिकों को श्रीलंकाई विद्रोहियों को काबू करने के लिए भारतीयों सैनिकों को श्रीलंका भेजने के फैसले से नाराज था. इस हत्या का मुख्य आरोपी शिवरासन गिरफ्तार होने से पहले ही साइनाइट खा लिया था. इस हत्या के साजिश में पूरा 7 आरोपी थे, जिसमें एक आरोपी संथन की बुधवार को यानी आज मौत हो गई।

राजीव गांधी के हत्यारे की हार्ट अटैक से बुधवार को हुई मौत

राजीव गांधी के हत्या के साजिश में कुल 7 आरोपी थे. जिसमें मुख्य आरोपी शिवरासन ने गिरफ़्तारी से ठीक पहले साइनाइट खा लिया था, लेकिन बाकी 6 आरोपियों को जेल हुई थी, जो कि सजा खत्म होने पर रिहा कर दिए गया था. उसमें से एक आरोपी संथन बीमार चल रहा था, जिसको भर्ती कराया गया था. डॉ.थेरनीरजन ने बताया कि संथन के लीवर खराब होने से भर्ती कराया गया था, सुबह 7:50 बजे अचानक से हार्ड अटैक आया और उसकी मौत हो गई. यह 7वें में से एक था, जिन्हें 1991 में रिहाई मिल गई थी।

राजीव गांधी के हॉस्पिटल में कराया गया था भर्ती

राजीव गांधी के हत्यारे संथन को चेन्नई के राजीव गांधी सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया था. फ़िलहाल हत्यारे संथन का मृत्यु हो गई है. अस्पताल के अधिकारी ने बताया कि मरने वाले शख्स का नाम सुरेंद्र राजा उर्फ़ संथन था. डॉ.थेरनीरजन ने बताया कि संथन का लिवर के इलाज के लिए भर्ती कराया गया था, लेकिन 7:50 बजे आखिरी सांस ली. अचानक से हार्ड अटैक आया और मौत हो गई।

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो