Prashant kishor: प्रशांत किशोर ने लालू पर लगाये गंभीर आरोप, नीतीश को दिल्ली भेजकर…

नई दिल्लीः एक वक्त था जब बिहार के सीएम नीतीश कुमार और प्रशांत किशोर साथ बैठकर जेडीयू के लिए रणनीति बनाते थे। प्रशातं एक समय में जेडीयू का उपाध्यक्ष हुआ करते थे। लेकिन जब से दोनों नेताओं की राहें अलग हुई है। दोनों एक – दूसरे पर निशाना साधने से नहीं चूकते है। खासकर जब से नीतीश कुमार ने आरजेडी के साथ सरकार बनाई है। इस बार जन सुराज पार्टी के संस्थापक प्रशांत किशोर ने नीतीश कुमार से लेकर आरजेडी सु्प्रीमो लालू प्रसाद यादव और तेजस्वी यादव को आरे हाथों ले लिया है।

प्रशांत का लालू पर निशाना

जन सुराज के संस्थापक प्रशांत किशोर ने लालू प्रसाद यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि लालू यादव और आरजेडी के जो नेता हैं, ये लोग सिर्फ बड़बोले लोग हैं। अब आप राजद की स्थिति को देख लीजिए कि पूरे लोकसभा में 543 में से इस पार्टी के जीरो सांसद हैं। लालू यादव यहां अपने घर में बैठते हैं और चार पत्रकारों को बुलाकर तय करते हैं कि कौन देश का प्रधानमंत्री बनेगा? जिस पार्टी के जीरो एमपी हैं और वो तय कर रहा है कि देश का प्रधानमंत्री कौन होगा? 2015 में तो हम ही लालू यादव और नीतीश कुमार को साथ लेकर आए थे।

लालू बिहार की सत्ता अपने हाथ में लेना चाहते है

प्रशांत किशोर ने कहा कि हम बखूबी जानते हैं कि वे एक दूसरे को कितना प्यार करते हैं? नीतीश कुमार को लालू यादव और तेजस्वी यादव से कोई प्यार नहीं है। लालू यादव नीतीश कुमार को रोज इसलिए दिल्ली के लिए चढ़ा रहे हैं कि बिहार खाली हो तो हमारा बेटा मुख्यमंत्री बने। वहीं नीतीश कुमार उनके साथ इसलिए हैं कि कुर्सी बची रहे और जब कुर्सी छूटे भी तो जब मेरी तारीख खत्म हो जाए, तो लोग यहां कहें कि भाई! कुछ भी कहिए नीतीश कुमार कितने भी खराब थे, तो इनसे अच्छे थे।

प्रशांत का नीतीश कुमार पर भी निशाना

दरभंगा के बहादुरपुर प्रखंड में पत्रकारों वार्ता में प्रशांत किशोर ने आगे कहा कि नीतीश कुमार ऐसे आदमी हैं कि बिहार की जनता ने उनके 42 विधायक जिताए हैं। इसी जनता को सबक सिखाने के लिए ये लालू यादव के जंगलराज को वापस लाने का प्रयास कर रहे हैं। जंगलराज वापस आ जाएगा तो लोग कहेंगे कि बेकार में ही नीतीश कुमार को हटाए, वही अच्छे थे। अगर इनसे बुरी सरकार आ जाए, तभी तो लोग नीतीश कुमार के बारे में अच्छा कहेंगे।

Latest news