June 26, 2024
  • होम
  • विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस: अमित शाह बोले- देश का विभाजन भारतीय इतिहास का अमानवीय अध्याय

विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस: अमित शाह बोले- देश का विभाजन भारतीय इतिहास का अमानवीय अध्याय

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : August 14, 2022, 2:12 pm IST

विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस:

नई दिल्ली। भारत के विभाजन को लेकर आज देश भर में विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस मना रहा है। पीएम मोदी से लेकर कई बीजेपी नेताओं ने आज ट्वीट कर भारत के विभाजन के दौरान अपनी जान गंवाने वाले सभी लोगों को याद किया और श्रद्धांजलि दी। इसी बीच केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने भी ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है कि देश देश का विभाजन भारतीय इतिहास का अमानवीय अध्याय है।

अमित शाह ने किया ट्वीट

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा कि 1947 में हुआ देश का विभाजन भारतीय इतिहास का वो अमानवीय अध्याय है जिसे कभी भुलाया नहीं जा सकता। विभाजन की हिंसा और घृणा ने लाखों लोगों की जान ली व असंख्य लोगों को विस्थापित करवाया। शाह ने आगे लिखा कि आज ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ पर विभाजन का दंश झेलने वाले लाखों लोगों को नमन करता हूँ।

पीएम मोदी ने दी श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री मोदी ने विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस पर ट्वीट कर लिखा कि आज मैं उन सभी को श्रद्धांजलि देता हूं। जिन्होंने विभाजन के दौरान अपनी जान गंवाई, और हमारे इतिहास के उस दुखद दौर में पीड़ित सभी लोगों के लचीलेपन और धैर्य की सराहना करता हूं।

मुख्यमंत्री योगी ने ये कहा

यूपी के सीएम योगी ने अपने ट्वीटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा कि विध्वंसात्मक मजहबी मानसिकता के कारण हुए दुखद भारत-विभाजन के दौरान लाखों निर्दोष नागरिकों ने अपनी जान गंवाई और करोड़ों नागरिकों को अमानवीय पीड़ा झेलनी पड़ी। आज ‘विभाजन विभीषिका स्मृति दिवस’ पर बलिदान हुए हुतात्माओं को विनम्र श्रद्धांजलि। उनके परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं।

उपमुख्यमंत्री केशव ने ये कहा

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने विभाजन को याद करते हुए अपने ट्वीट में लिखा कि 14 अगस्त 1947 में भारत का बंटवारा हमारे इतिहास का सबसे दर्दनाक घटना थी। इस विभाजन के कारण ही लाखों लोगों ने अपनों को खोया, क्रूरता और विस्थापन की विभीषिका को झेलना पड़ा. विभाजन विभिषिका स्मृति दिवस पर उन बलिदानियों को विनम्र श्रद्धांजलि।

बिहार में अपना CM चाहती है भाजपा, नीतीश कैसे करेंगे सियासी भूचाल का सामना

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन