GDP: जुलाई-सितंबर तिमाही में भारत की जीडीपी 7.6 प्रतिशत बढ़ी

नई दिल्ली: चालू वित्त वर्ष 2023-24 की दूसरी तिमाही जुलाई से सितंबर के बीच देश की अर्थव्यवस्था ने 7.6 प्रतिशत बढ़त की है. इसी वित्त वर्ष की पहली तिमाही अप्रैल से जून के बीच भारत की जीडीपी 7.8 प्रतिशत रही थी. वित्त वर्ष 2022-23 की दूसरी तिमाही में भारत की जीडीपी 6.3 प्रतिशत रही थी।

आधिकारिक आंकड़ों में बताया गया है कि दुनिया की प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में भारत सबसे तेज आर्थिक वृद्धि दर हासिल करने वाला देश बना हुआ है. वहीं चीन की जीडीपी वृद्धि दर इस जुलाई-सितंबर तिमाही में 4.9 प्रतिशत रही. आपको बता दें कि जीडीपी का अर्थ देश में निश्चित अवधि में उत्पादित वस्तुओं और सेवाओं के कुल मूल्य से संबंधित है।

प्रमुख विकास चालक

सकल घरेलू उत्पाद में पर्याप्त वृद्धि मुख्य रूप से निर्माण, विनिर्माण और खनन सहित प्रमुख क्षेत्रों में मजबूत प्रदर्शन से प्रेरित थी. इस अवधि के दौरान विशेष रूप से सरकारी खर्च ने आर्थिक विस्तार को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

जीडीपी आंकड़े

सकल घरेलू उत्पाद Q2FY24 में 41.74 लाख करोड़ तक पहुंच गया, जो इसी तिमाही में पिछले वर्ष 6.2% की तुलना में 7.6% की महत्वपूर्ण वृद्धि दर्शाता है. मौजूदा कीमतों पर 2023-24 की दूसरी तिमाही में जीडीपी बढ़कर 71.66 लाख करोड़ हो गई जो पिछले वर्ष की तुलना में 9.1% की वृद्धि को दर्शाती है. हालांकि 2022-23 की दूसरी तिमाही में देखे गए 17.2% विस्तार की तुलना में थोड़ी धीमी थी. भारत की जीडीपी वित्त वर्ष 24 की जुलाई-सितंबर तिमाही में 7.6% की प्रभावशाली दर से बढ़ी जो एक मजबूत आर्थिक प्रदर्शन को दर्शाता है।

यह भी पढ़े : 

The Kerala Story: अदा शर्मा ने केरला स्टोरी के आलोचकों को दिया करारा जवाब, कही ये बात

सेना की महिला अधिकारी अब चलाएगीं तोप और रॉकेट,आर्टिलरी रेजीमेंट में पहले बैच को मिला कमीशन

Latest news