June 15, 2024
  • होम
  • Delhi liquor Case: शराब घोटाला मामले में केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ी, जांच में हुए नए खुलासे

Delhi liquor Case: शराब घोटाला मामले में केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ी, जांच में हुए नए खुलासे

  • WRITTEN BY: Sachin Kumar
  • LAST UPDATED : March 18, 2024, 8:21 pm IST

नई दिल्लीः दिल्ली शराब नीति मामले में सीएम केजरीवाल की मुश्किलें बढ़ने वाली है। ईडी की जांच में आरोपी बीआरएस एमएलसी के.कविता के साथ केजरीवाल का नाम जुड़ गया है। ईडी के अनुसार जांच में खुलासा हुआ है कि नई आबाकारी नीति से लाभ उठाने के लिए के. कविता ने सीएम केजरीवाल और तत्कालीन उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के साथ मिलकर साजिश रची। नई आबाकारी नीति से निजी लाभ पाने की एवज में आप नेताओं तक 100 करोड़ रुपए पहुंचाए गए।

सूत्रों ने बताया कि ईडी की जांच में यह खुलासा हुआ की नई शराब नीति के तहत व्यापारी के जरिेए लगातार रिश्वत का पैसा आप पार्टी तक पहुंचाया जा रहा था। साजिश के तहत साउथ लॉबी द्वारा एडवांस में करोड़ों रुपए की रिश्वत दी गई। शराब पर प्रॉफिट मार्जिन बढ़ाकर वसूलना और इस नीति से दोगुना मुनाफा कमाना इसका उद्देश्य था।

15 मार्च को कविता हुई थी गिरफ्तार

बता दें कि ईडी ने दिल्ली शराब नीति घोटाले मामले में 15 मार्च को तेलंगाना विधान परिषद की एमएलसी के कविता को गिरफ्तार किया था। इसके बाद कोर्ट ने कविता को 23 मार्च तक ईडी हिरासत में भेज दिया गया था। अब तक ईडी ने दिल्ली, हैदराबाद, चेन्नई और अन्य स्थानों सहित देश भर में 245 स्थानों पर तलाशी ली है। मामले में अब तक आप नेता मनीष सिसोदिया, संजय सिंह और विजय नायर समेत 15 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

ईडी के समन पर पेश नहीं हुए थे केजरीवाल

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल जल बोर्ड में कथित अनियमितताओं से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामलें में ईडी के समन पर सोमवार को उसके सामने पेश नहीं हुए थे। वहीं आम आदमी पार्टी ने समन को गैरकानूनी बताया और केंद्र की भाजपा सरकार पर केजरीवाल को निशाना बनाने और उन्हें लोकसभा चुनाव में प्रचार करने से रोकने के लिए ईडी का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। पार्टी ने आरोप लगाया की समन अवैध है और भाजपा ईडी का इस्तेमाल करके लोकसभा चुनाव लड़ना चाहती है।

 

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन