कांग्रेस ने राहुल गांधी पर हुए मानहानि के केस को बताया राजनीति से प्रेरित, कहा- लड़ाई जारी रखेंगे

नई दिल्ली। कांग्रेस नेता राहुल गांधी की मानहानि मामले में सजा के खिलाफ याचिका आज सूरत की सेशंस कोर्ट से खारिज हो गई। कोर्ट के इस फैसले पर जहां बीजेपी ने खुशी जताई है, वहीं कांग्रेस ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया दी है। कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा है कि ये पूरा मामला राजनीति से प्रेरित है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम अपनी लड़ाई को जारी रखेंगे। हम सभी को न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है।

बीजेपी ने कहा- गांधी परिवार का घमंड टूटा

उधर, भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि राहुल गांधी ने अपने भाषण में ओबीसी समाज को गाली दिया था। ये सब करने के बाद गांधी परिवार सोच रहा था कि वो बचकर निकल जाएगा, लेकिन ये नहीं हो पाया। पात्रा ने कहा कि सूरत कोर्ट का फैसला गांधी परिवार के मुंह पर तमाचा है। आज अदालत के फैसले से सिद्ध हो गया कि कानून सबके लिए बराबर होता है।

सूरत कोर्ट ने खारिज की राहुल की याचिका

इससे पहले मानहानि मामले में आज कांग्रेस नेता राहुल गांधी को सूरत कोर्ट से बड़ा झटका लगा। सूरत की सेशंस कोर्ट ने राहुल गांधी की सजा पर रोक लगाने वाली याचिका खारिज कर दी। एडिशनल सेशन कोर्ट जज आरपी मोगेरा ने एक लाइन में राहुल की याचिका खारिज कर दी। इस बीच अब खबर सामने आई है कि राहुल गांधी सूरत कोर्ट के फैसले को गुजरात हाई कोर्ट में चुनौती देंगे। कांग्रेस से जुड़े नेताओं का कहना है कि मानहानि मामले में मिली दो साल की सजा पर रोक लगाने के लिए जल्द ही राहुल गांधी हाईकोर्ट का रुख करेंगे।

मानहानि मामले में मिली थी 2 साल की सजा

गौरतलब है कि, मोदी सरनेम वाले मामले में पिछले महीने 23 मार्च को कोर्ट ने राहुल गांधी को 2 साल की सजा सुनाई थी। सजा सुनाए जाने के कुछ देर बाद ही उन्हें 30 दिन की जमानत मिल गई थी। इसके बाद अगले दिन उनकी लोकसभा सदस्यता रद्द कर दी गई थी। राहुल गांधी 2019 के लोकसभा चुनाव में केरल की वायनाड संसदीय सीट से सांसद चुने गए थे।

यह भी पढ़ें-

कर्नाटक चुनाव: येदियुरप्पा के करीबी सहयोगी ने JDS जॉइन की, बीजेपी से नहीं मिला था टिकट

Karnataka Elections: राहुल गांधी बोले- PM मोदी ने अडानी को हजारों करोड़ दिए, हम कर्नाटक के लोगों की मदद करेंगे

Latest news